0

मुंबई। कैंसर की दवा बनाने वाली एक अग्रणी कंपनी एक़्ज़िओममैक्स ऑन्कोलॉज़ी ने अपने सीएसआर के तहत कैंसर पीड़ितों के कल्याण के लिए एक नया कदम उठाया है। कंपनी का कहना है कि आज कैंसर का इलाज़ संभव हो चुका है तथा कैंसर पीड़ितों को घबराना नहीं चाहिए। इसके लिए कैंसर पीड़ितों की हौसला-आफजाई करने की जरूरत है ताकि वे सकारात्मक होकर इस लड़ाई का मुकाबला कर सकें।
हेल्थ इंडस्ट्री में उत्कृष्टता पाने के विज़न के साथ अगस्त 2016 में 'एक़्ज़िओममैक्स ऑन्कोलॉज़ी प्राइवेट लिमिटेड' की स्थापना की गई। सशक्त वितरण नेटवर्क तथा अपने उत्साही व अनुभवी मार्केटिंग टीम के साथ एक़्ज़िओममैक्स कैंसर पीड़ितों के जीवन में एक सार्थक प्रभाव डालने के लिए पूरी तरह तैयार है।इसी की अगली कड़ी के रूप में एक अभिनव पहल करते हुए कंपनी ने ‘हौसला’ नामक गीत तैयार किया है ताकि कैंसर रोगियों और उनकी देखभाल करने वालों के साथ-साथ उनके परिजनों को भी इसके उपचार की लंबी यात्रा के लिए प्रेरणा दी जा सके।
कंपनी ने अपने इस संदेश को गीतों के माध्यम से देशभर में फैलाने की पहल की है जिनमें न सिर्फ कैंसर के रोगियों, बल्कि पहली बार उनकी देखभाल करनेवालों के दर्द और मुश्किलों को भी आवाज़ देने की कोशिश की गई है। यही नहीं, इस संदेश को ऑडियो-विडियो के माध्यम से देश और दुनियाभर में पहुंचाने के लिए इन गीतों को एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा सहित कुल 12 भाषाओं में जारी किया गया है जिनमें हिंदी, अंग्रेजी, मराठी, पंजाबी, बंगाली, असमिया, उड़िया, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम और गुजराती शामिल हैं। कंपनी के सीएसआर विभाग ‘एक़्ज़िओममैक्स फाउंडेशन’ ने लगभग 100 लोगों की टीम की मदद से इस अभिनव पहल को अंजाम दिया है।
कंपनी ने इसे प्रोजेक्ट ‘हौसला- फॉर अ कॉज़’ नाम दिया है जिसे पूरा करने में 2 साल लगे। यह कैंसर रोगियों, उनके परिजनों और उनकी देखभाल करने वालों के लिए निर्मित एकमात्र प्रेरक गीत है। इसे 12 भाषाओं में डब किया गया है जिनमें से 7 भाषाओं (हिंदी, बंगाली, मराठी, पंजाबी, असमिया, उड़िया और अंग्रेजी) में प्रसिद्ध बॉलीवुड गायक शान ने गाया है, जबकि 2 (तमिल और कन्नड़) विजय प्रकाश और 2 (मलयालम और तेलुगू) श्रीकांत कृष्णमूर्ति ने गाए हैं, वहीं गुजराती वर्जन पार्थिव गोहिल ने गाया है।
एक़्ज़िओममैक्स और कैडेन्स मीडिया द्वारा जारी इस गीत को रवि बसनेत ने लिखा और हितेश मिश्रा ने कंपोज़ किया है। हितेश मिश्रा ने इसके विडियो के कांसेप्ट लेखन के साथ ही निर्देशन भी किया है।
‘हौसला’ गीत में दो भाग हैं। पहले भाग में कैंसर मरीजों के लिए वीडियो है जबकि दूसरे भाग में मरीजों की देखभाल करने वालों के लिए एक ऑडियो भी है। यह एकमात्र प्रेरक गीत है जो न सिर्फ रोगियों का, बल्कि उनकी देखभाल करने वालों का भी ख्याल रखता है जिनके योगदानों और कष्टों को अक्सर नजरंदाज़ कर दिया जाता है। 

Post a comment

 
Top