0
मुंबई : पिछला हफ्ता दुनिया में कच्चे तेल की कीमतों के लिए अच्छा था। डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमतों में 16.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो चार हफ्तों में पहली बार साप्ताहिक लाभ की स्थिति में रहा। इसका कारण था शुक्रवार से ओपेक+ देशों के बीच हुई नई सप्लाई डील क्रियान्वित हुई। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन-एग्री कमोडिटीज एंड करेंसीज के चीफ एनालिस्ट प्रथमेश माल्या ने बताया कि पेट्रोलियम निर्यातक देशों और उनके सहयोगियों के संगठन ने 1 मई, 2020 से प्रति दिन 9.7 मिलियन बैरल प्रतिदिन अपने उत्पादन को कम करने पर सहमति जताई है। एनर्जी इंफर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्टों के बाद कीमतों को समर्थन मिला जिसमें कहा गया था कि यूएस क्रूड इन्वेंट्री का स्तर 9 मिलियन बैरल बढ़ा है जबकि पिछले हफ्ते बाजार में 10.6 मिलियन बैरल की वृद्धि की उम्मीद थी।
पिछले हफ्ते स्पॉट गोल्ड की कीमतें 1.6 प्रतिशत कम हो गईं, क्योंकि कई देशों में वायरस से संबंधित लॉकडाउन खत्म होने की उम्मीद के बीच निवेशकों के बीच जोखिम उठाने की भूख बढ़ी और सेफ हैवन संपत्ति के तौर पर गोल्ड की अपील कमजोर हुई। अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों को शून्य के पास रखा और कहा कि वह अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सभी उपलब्ध साधनों का उपयोग करेगा जिसने सराफा धातु की कीमतों में गिरावट को सीमित कर दिया। 
पिछले सप्ताह स्पॉट सिल्वर कीमतें 1.97 प्रतिशत कम होकर 14.9 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई जबकि एमसीएक्स पर कीमतें 1.94 प्रतिशत कम होकर बंद हुई और 4,237 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई।

Post a comment

 
Top