0

मुंबई, भारत के सबसे बड़े प्रीमियम स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्महॉटस्‍टार ने आज इंडिया वॉच रिपोर्ट 2019 जारी की। इस रिपोर्ट में ऑनलाइन वीडियो देखने संबंधी व्यवहार और प्रचलनों का एक व्यापक अध्ययन किया गया है। हॉटस्टार के अखिल भारतीय उपभोक्ता आधार पर आधारितइस रिपोर्ट के तीसरे संस्करण में यह जानकारी दी गई है कि कंटेंट की उभरती प्राथमिकताओंजेंडर में हो रहे प्रगतिशील बदलावऔर बढ़ती पहुंच ने कैसे आधुनिक भारतीय डिजिटल उपभोक्ता को आकार देना जारी रखा है।

रिपोर्ट के बारे में बात करते हुए वरुण नारंग (ईवीपी और चीफ प्रोडक्‍ट ऑफीसर हॉटस्टार) ने कहा, “भारतीय वीडियो मनोरंजन प्रणाली की तेज वृद्धि का उपभोक्ता पर अद्भुत प्रभाव पड़ा है। आज भारतीय उपभोक्ता के पास चुनने के लिए कंटेंट की भरमार है, जो मेट्रो शहरों की सीमाओं से परे हैऔर यह जेंडर या भाषा द्वारा सीमित नहीं है। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि इस बढ़ती पहुंच ने नए विचारों और संकल्पनाओं के द्वार खोल दिए हैं जो रूढ़िवादिता को तोड़ने वाले उपभोक्ताओं को आकार दे रहे हैं।

हॉटस्टार अपने व्‍यापक दायरे और पूरे देश में पहुंच के साथ इस उभरते ग्राहक को बेहतर ढंग से समझने के लिए सुदृढ़ स्थिति में है और इंडिया वॉच रिपोर्ट का तीसरा संस्करण भी यही बताता है। वीडियो स्ट्रीमिंग कैसे विकसित हो रही है और इसके पीछे छिपी आकर्षक व्यवहार संबंधी और मनोरंजन उपभोग की जानकारी क्‍या है, इस पर व्‍यापक नजर डालने के साथ, हमें भरोसा है कि लोग इंडिया वॉच रिपोर्ट 2019 को बहुत ही रोचक पाएंगे और इसे पढ़ने का आनंद लेंगे।
चार सौ मिलियन से अधिक बार डाउनलोड होने के साथ, हॉटस्टार भारत में सबसे अधिक डाउनलोड किये जाने वाले एप में से एक है। 2018 की तुलना में इस साल इस एप के दो गुने इंस्टालेशन हुए हैं जबकि इसकी खपत में तीन गुना तक अधिक वृद्धि हुई है। यह वृद्धि डिजिटल वीडियो उपभोग को नई दिशा में ले जाने के हॉटस्‍टार के प्रयासों से फलीभूत हुई है। जहां गैर-मेट्रो शहर वीडियो उपभोग के लिहाज से मेट्रो शहरों को पीछे छोड़ रहे हैं और प्रादेशिक कंटेंट में भी वृद्धि हुई है और कंटेंट की कुल खपत में इसका योगदान 40 प्रतिशत है।
इससे प्रेरित होकरअपने व्यक्तित्व को अपना रहे उपयोगकर्ताओं की एक नई पीढ़ी सामने आ रही है और ये उपयोगकर्ता बरसों पुराने भौगोलिकभाषाई और जेंडर जैसी रूढ़ियों को दरकिनार रहे हैं। 2019 मेंपुरुषों का महिलाओं की तुलना में परिवारिक ड्रामा की तरफ काफी लगाव देखा गया और फैमिली ड्रामा के 40 प्रतिशत से ज्‍यादा दर्शक पुरुष हैं, इसने लंबे समय से चली आ रही धारणा को तोड़ा है कि इस तरह के जोनर्स पुरुषों को आकर्षित नहीं करते। इस बीचमहिलाएं अपने मनोरंजन के लिए डिजिटल स्वरूप का अधिक उपभोग कर रही हैंवे ऑनलाइन कुल मनोरंजन उपभोग में 45 प्रतिशत का योगदान दे रही हैं।
मनोरंजन के साथ ही उपभोक्ता आज अपनी खुद की आवाज चाहते हैंऔर इसके साथ दूसरों के साथ बातचीत करने और खुद को व्यक्त करने का अवसर चाहते हैं।  नतीजतनऑनलाइन व्यूअरशिप पुराने दर्शकों के पुराने स्वरूप को बदलते हुए सामाजिक रूप में स्थापित कर रहा है। वीवो आईपीएल 2019 के दौरान, 'वॉच एन प्लेमें 64 मिलियन दर्शकों ने भाग लियाजो कि पिछले साल की तुलना में दोगुना है।

Post a comment

 
Top