0

मुंबई। भारत के सबसे बड़े फ्रेश फूड ब्रांड आईडी फ्रेश फूड ने कोरोना महामारी के दौरान मुंबई के 350 से अधिक अपार्टमेंटों में रहने वाले 9000 से अधिक घरों में अपने इडली डोसा बैटर, पैरोठा, वडा बैटर, चपाती और पनीर को पहुंचाया। कंपनी ने आईडी ट्रस्ट शॉप 2.0 मॉडल की शुरुआत की है, जिसके तहत कंपनी के सेल्स एक्जीक्युटिव ग्राहकों का विश्वास एवं भरोसा जीतने के लिए बिना भुगतान के अपने उत्पादों को मुंबई के 9000 घरों तक पहुंचाते हैं और ग्राहक उसे प्राप्त करके कंपनी को अपने विभिन्न पेमेंट माध्यमों के जरिये उसका भुगतान कर देते हैं। गौरतलब है कि कंपनी पेमेंट के लिए किसी को फोर्स नहीं करती। यह एक यूटोपियन अवधारणा है जिसके आधार पर वह अपने उत्पादों को सीधे ग्राहकों तक पहुंचा रही है।
कंपनी ने अपने इस अनोखे मॉडल के लिए मुंबई के 350 से अधिक रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशंस (आरडब्ल्यूए) के प्रतिनिधियों के साथ समन्वय (कोआर्डिनेटर्स) किया। कंपनी की यह अनोखी पहल कोरोना महामारी के समय लॉकडाउन में घरों पर बंद निवासियों के लिए ताजा और हेल्दी प्रोडक्ट्स उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई है। इस पहल में ग्राहकों को अपने अपार्टमेंट्स से बाहर जाने की जरुरत नहीं है। अपार्टमेंट्स के कोआर्टिनेटर्स आईडी फ्रेश में आर्डर करते हैं और कंपनी के डिलिवरी बॉय 24-48 घंटों में उनके अपार्टमेंट्स के सेक्युरिटी गार्ड के पास आर्डर किये गये फूड्स डिलीवर कर देते हैं। ग्राहक बाद में इसका भुगतान कंपनी को अपने पेमेंट माध्यमों ई-वॉलेट के जरिये करते हैं। यह मॉडल पूरी तरह विश्वास और भरोसे पर आधारित है।
आईडी फ्रेश के सह-संस्थापक और सीईओ मुस्तफा पीसी ने कहा कि हमें मुंबई के ग्राहकों से अनेक कॉल आए जिसमें उन्होंने कोरोना महामारी के समय रेड जोन होने के कारण फूड न मिलने की परेशानी बताई। खाना खरीदने के लिए वे अपने घरों से बाहर जाने में असमर्थ थे। इसलिए हमने अपने इन ग्राहकों तक सीधे अपने उत्पादों को पहुंचाना सही समझा और फैसला किया हम अपने ग्राहकों तक सीधा पहुँचेंगे। खासकर उन लोगों के लिए जो किराना स्टोर या शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बंद घरों में रहते हैं।
आईडी फ्रेश वर्तमान में इडली और डोसा बैटर, होल व्हीट, पारोटा, मालाबार परोटा नेचुरल पनीर और फ़िल्टर कॉफी अपने  ट्रस्ट शॉप रूट के माध्यम से मुंबई के 350 से अधिक अपार्टमेंट्स के 9,000 से अधिक घरों में अपने उत्पादों को पहुंचा रही है। कंपनी के इस मॉडल को बहुत ही कम समय में भारी प्रतिसाद मिला है। इससे उत्साहित होकर कंपनी ने अब इस मॉडल को बेंगलुरु, चेन्नई और हैदराबाद में भी शुरु करने का फैसला किया है।
 मुस्तफा ने कहा कि आईडी फ्रेश का कारोबार विश्वास और भरोसे पर आधारित है। मुंबई में हमारा यह मॉडल सफल रहा है और यहां के बंद घरों के हमारे 90 प्रतिशत से अधिक ग्राहकों ने एक दिन के भीतर ऑनलाइन भुगतान किया, जो हमारे विश्वास और भरोसे के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।
  आईडी फ्रेश के मुख्य बिजनेस अधिकारी पवन कुमार बीवीएस ने कहा कि लॉकडाउन के शुरुआती दिनों के दौरान बिक्री एक बड़ी चुनौती थी औऱ हमने इसमें अपने ग्राहक केंद्रित टेक्नोलोजी का इस्तेमाल किया। अपने ट्रस्ट शॉप 2.0 मॉडल को आगे बढ़ाया। यह मॉडल हमारे लिए न केवल एक अनूठी पहल है, बल्कि इसके जरिए हम अपने ग्राहकों को यह बताने का भी प्रयास कर रहे हैं कि मौजूदा चुनौतीपूर्ण समय में हम उनके साथ हैं।

Post a comment

 
Top