0
मुंबई : स्पॉट गोल्ड की कीमतें गुरवार को 0.82 प्रतिशत की तेजी के साथ 1729.3 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर बंद हुईं, जबकि महामारी के बाद सुधार में ज्यादा लंबी अवधि लगने की उम्मीद से पीली धातु की कीमत बढ़ गई। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन-एग्री कमोडिटीज एंड करेंसीज के चीफ एनालिस्ट प्रथमेश माल्या ने बताया कि डोनाल्ड ट्रम्प ने तीखी टिप्पणी में चीन के प्रति असंतोष व्यक्त किया और आरोप लगाया कि चीन ने वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में नाकाम रहा। दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों द्वारा घोषित आक्रामक प्रोत्साहन उपायों और कम ब्याज दरों के साथ आर्थिक पैकेजों ने सोने की कीमतों का समर्थन किया।
गुरुवार को स्पॉट सिल्वर की कीमतें 1.47 प्रतिशत बढ़कर 15.9 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुईं। एमसीएक्स पर कीमतें 2.7 प्रतिशत बढ़कर 44,135 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई।
एनर्जी इंफर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की इस घोषणा के बाद कि यू.एस. क्रूड इन्वेंट्री लेवल आने वाले महीनों में और गिरने वाला है, क्रूड ऑयल की कीमतें 8.9 प्रतिशत बढ़कर 27.6 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर बंद हुईं।
मांग में कमी से निपटने के लिए सऊदी अरब के साथ-साथ ओपेक के अधिकांश सहयोगियों द्वारा आक्रामक और सोच-समझकर उत्पादन कटौती की घोषणा की गई। इसके अलावा कुछ औद्योगिक गतिविधियों के फिर से शुरू होने से तेल की कीमतों में वृद्धि को समर्थन मिला। हालांकि, दुनियाभर में हवाई और सड़क यातायात पर जारी प्रतिबंधों ने तेल की कीमतों में किसी और वृद्धि को बढ़ावा देने से वंचित किया।

Post a comment

 
Top