0
मुंबई : भारत की प्रमुख ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग कंपनी एग्रीबाजार ने कोविड-19 लॉकडाउन अवधि में अपने प्लेटफॉर्म पर किसानों के लिए रजिस्ट्रेशन फी की छूट की घोषणा की है। यह ऑफर सीमित अवधि के लिए है। इसके जरिये यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोई भी कृषि उपज बर्बाद न हो और एग्री-सप्लाई चेन की दिक्कतों को कम किया जा सके। ताकि किसान और खरीदार अपने घरों पर सुरक्षित रहकर शारीरिक दूरी रखते हुए व्यापार कर सके। 2016 में स्थापना के बाद से ऐप ने 14,000 करोड़ रुपए की जीएमवी हासिल की है।
इस पेशकश को किसान समुदाय से उत्साहजनक प्रतिक्रिया मिल रही है। छोटे खेत-मालिक, जो लॉकडाउन प्रतिबंधों की वजह से, पास की मंडी बंद होने और लॉजिस्टिक चुनौतियों के कारण उपज बेचने में असमर्थ थे, उन्हें सबसे अधिक फायदा हुआ है।
अप्रैल 2020 के दौरान एग्रीबाजारwww.agribazaar.com ऐप ने लद्दाख, सिक्किम और लक्षद्वीप जैसे दूरदराज के स्थानों पर 8,000 से अधिक ट्रकों में फल, सब्जियां, दालें, तिलहन और अनाज जैसे कृषि-उत्पादों के परिवहन की सुविधा प्रदान की। बारामती के अंगूर किसानों और कश्मीर में सेब उगाने वाले किसानों से लेकर मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब और हरियाणा और अन्य राज्यों के किसानों की ओर से लॉकडाउन के दौरान प्रतिक्रिया  उत्साहजनक रही है।
एग्रीबाजार के सह-संस्थापक और सीईओ अमित अग्रवाल ने कहा, “भारतीय कृषि को कोविड-19 के कारण बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा; हालांकि, सरकार और स्थानीय प्रशासन के प्रयासों से भारतीय किसान की डिजिटल यात्रा ने ऐसे कठिन समय में राहत दी है। किसानों को कोविड-19 के दौरान बिना किसी फी के हमारे प्लेटफार्म पर रजिस्ट्रेशन करने में सक्षम कर हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘दो गज की दूरी’ बनाए रखने के आह्वान पर खरा उतरते हुए मौजूदा प्रतिबंधों के बीच अपने उत्पाद बेचने में उनकी मदद कर रहे हैं।

Post a comment

 
Top