0

बहुप्रतीक्षित त्योहार- दीवाली करीब आ गया है। प्रकाश पर्व खुशी और समृद्धि का प्रतीक है और यह अब दस्तक दे रहा है। दीवाली के शुभ अवसर पर लोग अक्सर ट्रेडिंग यह सोचकर करते हैं कि इस समय किया गया निवेश आने वाले समय में कई गुना रिटर्न देगा। विभिन्न वित्तीय साधन निवेश के लिए उपलब्ध हैं, लेकिन दीवाली पर सबसे अच्छा निवेश विकल्प कौन से हैं इनके बारे में बता रहें हैं एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के सीएमओ प्रभाकर तिवारी। 

सोना और चांदी: सोना और चांदी शुरुआती दिनों से ही भारतीय निवेशकों के बीच लोकप्रिय निवेश विकल्प रहे है, क्योंकि तब कई निवेश उपलब्ध नहीं थे। यह भी माना जाता था कि इन धातुओं की कीमतें आमतौर पर लगातार बढ़ती हैं। हालांकि, आज वास्तविकता भिन्न है क्योंकि बहुत अधिक विकल्प उपलब्ध हैं। एक निवेशक को इन कीमती धातुओं में अपने पूर्ण पोर्टफोलियो का 5% से 8% से अधिक निवेश नहीं करना चाहिए।

म्यूचुअल फंड: म्यूचुअल फंड लिक्विडिटी और पेशेवर प्रबंधन की तलाश में निवेशकों के लिए उपयुक्त निवेश विकल्प हैं। वे बेहतर रिटर्न, पोर्टफोलियो के डायवर्सिफिकेशन और निवेश में लचीलापन प्रदान करते हैं। निवेशक अपने फंड को अपने निवेश उद्देश्यों के आधार पर डेट फंड, इक्विटी या हाइब्रिड म्यूचुअल फंड में डाल सकते हैं। चूंकि, म्यूचुअल फंड को जोखिम लेने की भूख जरूरी होती है, इसलिए वित्तीय सलाहकारों की सहायता लेना सबसे अच्छा तरीका है।

इक्विटी: इक्विटी निवेश लंबी अवधि में कई गुना रिटर्न देते हैं, लेकिन इसमें जोखिम भी ज्यादा होता है। इस वजह से इक्विटी में निवेश विशेषज्ञ की सलाह लेने के बाद ही किया जाना चाहिए। एक निवेशक को अपने पोर्टफोलियो के 15% से 20% से अधिक इक्विटी के लिए आवंटित नहीं करना चाहिए। इक्विटी म्यूचुअल फंड की तरह लिक्विड होते हैं, और इसलिए वे एक लोकप्रिय विकल्प हैं।

Post a comment

 
Top