0

~ जीपीएस ट्रैकर्स, डीजल सेवा, फास्टैग डेबिट एडजस्टमेंट जैसी सुविधाओं का लाभ ~

मुंबई : व्हील्सआय तेजी से विकसित हो रहा एक मिड-स्टेज लॉजिस्टिक्स-टेक स्टार्ट-अप है।  आज भारतीय सड़कों पर चलने वाले सभी ट्रकों में से 10 लाख से भी अधिक ट्रक व्हील्सआय से जुड़े हुए हैं। अगर औसतन देखा जाए तो व्हील्सआय प्लेटफॉर्म से हर रोज लगभग 1000 ट्रक जुड़ते हैं। ट्रक मालिकों को व्हील्सआय पर काफी भरोसा है क्योंकि इसकी मदद से ट्रकों को जीपीएस से ट्रैक करना, फास्टैग मैनेज करना, डीजल पर कैशबैक सहित कई सेवाएं ट्रक मालिकों को आसानी से मिलती है। इन सब के अलावा व्हील्सआय ट्रकों की बेहतर सुरक्षा, रियल टाइम विजिबिलिटी और ट्रकों के परिचालन को सुव्यवस्थित करने के लिए बहुत सारे अवसर, खर्चे, और व्यवसाय में लाभ पाने का तरीका भी अपने ग्राहकों को बताता है।

फिलहाल, देश भर के 1,500 से भी अधिक शहरों में व्हील्सआय अपनी सेवाएं और सहायता प्रदान करता है। कंपनी ने छोटे शहरों में अपनी सेवाएं और इन्फ्रा को मजबूत किया है और काफी तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। बहुत कम ही समय में व्हील्सआय ट्रक मालिकों और ड्राइवरों के बीच एक मशहूर नाम बन गया है।

व्हील्सआय के ईआईआर सोनेश जैन ने कहा, “व्हील्सआय में हम छोटे और मध्यम ट्रक मालिकों को सरलतम और सबसे अत्याधुनिक तकनीकी उपकरणों के साथ सशक्त बनाते हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य उन्हें बढ़ती कार्य क्षमता और आत्मविश्वास के साथ व्यापार चलाने में मदद करना है। यह देखना काफी संतोषजनक है कि कैसे हमारी टीम एक मज़बूत और सबसे कठिन बाजारों में से एक को पकड़ने में कामयाब रही जो हमारे ग्राहक आधारित दृष्टिकोण और कड़ी मेहनत के लिए एक वसीयतनामा है। हमने न केवल ट्रकिंग ऑपरेशंस को आसान बनाया है बल्कि यह भी सुनिश्चित किया है कि ट्रकिंग इंडस्ट्री को वो सराहना मिले, जिसका वह असल हकदार है।

Post a comment

 
Top