0

( वकार जावेद खान, रिसर्च एनालिस्ट, एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड)

 प्राइज परफॉर्मंस

यूके में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों और ब्रेक्जिट को लेकर यूरोपीय संघ व यूके में बढ़ते तनाव के बावजूद अक्टूबर की शुरुआत से पाउंड-डॉलर (GBPUSD) में 1 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और पाउंड-रुपए (GBPINR) में 1.7 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस बीच, सेफ हेवन डॉलर इंडेक्स में इस अवधि के दौरान 0.83 प्रतिशत की गिरावट आई, जिससे पाउंड में रैली आई।

यूके में कोरोना की दूसरी खतरनाक लहर 

पिछले एक हफ्ते में प्रतिदिन औसतन 20,000 मामलों के साथ कोरोनो की दूसरी लहर ने ब्रिटेन को पूरी तरह से जकड़ लिया है। देश में कुल संक्रमण अब 894690 केस तक पहुंच गया है और अब  तक 44998 मौतें हो चुकी हैं। चूंकि, कोरोनोवायरस के मामलों का नए सिरे से चढ़ना जारी है, इसलिए इंग्लैंड के प्रमुख हिस्सों में प्रतिबंध लगाए जाने की संभावना है।

लॉकडाउन के कारण वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में यूके की अर्थव्यवस्था में 20.4 प्रतिशत की गिरावट आई है और इन लॉकडाउन का असर पूरी छमाही पर ही हुआ है। सकल घरेलू उत्पाद में गिरावट मुख्य रूप से सर्विसेस, कंस्ट्रक्शन और प्रोडक्शन सेक्टरों में गिरावट की वजह से थी।

यूके की जीडीपी में गिरावट विकसित अर्थव्यवस्था के उसके साथियों में सबसे अधिक थी। सर्दियों की नौकरियों पर आशंकाओं के बीच ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में बेरोजगारी की दर 4.5 प्रतिशत तक बढ़ने की आशंका है। ब्रिटिश सरकार का सैलरी सपोर्ट इस महीने समाप्त हो जाएगा और कोरोनावायरस के मामलों को रोकने के लिए नए प्रतिबंध लगाए गए हैं, जिससे बेरोजगारी दर और बढ़ेगी।


क्या ब्रेक्जिट का रहस्य सुलझेगी?

यूके और ईयू ने दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से रुकी डील को पूरा करने के लिए 22 अक्टूबर को अपनी पोस्ट-ब्रेक्सिट बातचीत शुरू की। मछली पकड़ने के अधिकारों को लेकर दोनों पक्षों में तनातनी बनी हुई है। पीएम बोरिस जॉनसन के प्रवक्ता ने स्वीकार किया कि पोस्ट-ब्रेक्जिट डील पर बातचीत के लिए यूके और यूरोपीय संघ के मतभेदों को दूर करने करने के लिए बहुत कम समय बचा है। उन्होंने स्वीकार किया कि महत्वपूर्ण पहलुओं पर बहुत कम समय में बहुत सारा काम करने की आवश्यकता है।

एंड्रयू बेली ने नकारात्मक ब्याज दरों के संकेत देना जारी रखा

बीओई गवर्नर ने बैंकों से कहा कि वे शून्य या निगेटिव ब्याज दरों के लिए अपनी ऑपरेशनल रेडीनेस को आगे बढ़ाएं। बीओई ने अपनी अगली मौद्रिक नीति बैठक के एक सप्ताह बाद बैंकों को जवाब देने के लिए 12 नवंबर की समयसीमा निर्धारित की है।

नीति निर्माताओं को नवंबर में अपने बॉन्ड बायबैक कार्यक्रम को विस्तार देने की उम्मीद है। गवर्नर ने कहा कि अर्थव्यवस्था संकट से पहले की तुलना में 7-10 प्रतिशत की कम रहेगी।

आउटलुक

पोस्ट-ब्रेक्जिट डील बातचीत और कोरोनो के मामलों में तेजी से वृद्धि पाउंड में मूवमेंट का केंद्र बिंदु बना हुआ है। बाजार दोनों पक्षों के बीच 11वें घंटे में डील की उम्मीद कर रहे हैं, लेकिन चर्चा का पेंडुलम किसी भी पक्ष में जा सकता है।

यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के बीच ब्रेक्जिट बातचीत में मछली पालन और कुछ महत्वपूर्ण व्यापारिक पहलू विवाद की जड़ बने हुए हैं। इस वजह से दोनों पार्टियों के अनुसार प्रमुख कार्य करने की आवश्यकता है, लेकिन अब तक डील को लेकर कुछ भी तय नहीं हुआ है।

केंद्रीय बैंक अपने आक्रामक रुख को बनाए रखने में मदद कर रहे हैं ताकि अर्थव्यवस्था वायरस के नकारात्मक नतीजों से लड़ने में मदद कर सके। दुनियाभर के प्रमुख केंद्रीय बैंकों के अनुरूप बीओई को 5 नवंबर को अपनी अगली बैठक में बॉन्ड बायबैक प्रोग्राम में 100 बिलियन पाउंड की वृद्धि की उम्मीद है। वृद्धि के बाद कम्युलेटिव बॉन्ड बायबैक प्रोग्राम 845 बिलियन पाउंड का होगा।

इस वजह से पोस्ट-ट्रेड डील की संभावना को आगे बढ़ाते हुए और बॉन्ड बायबैक प्रोग्राम में वृद्धि पाउंड रैली में ट्रिगर का काम कर सकती है।

इसलिए, पाउंड-रुपया (GBPINR) स्पॉट (CMP: 96) के नवंबर-20 के अंत तक 97 मार्क से अधिक की ओर ऊपर जाने की उम्मीद है।

Post a comment

 
Top