0

एनईएस इंग्लिश स्कूल ने की १,४४,००,००० रुपये फीस माफ


थाना। वैश्विक महामारी कोरोना अवधि के दौरान हर कोई वित्तीय संकट से गुजर रहा है। नौकरियों में कमी हो गयी है। सभी तरह के कामधंधे में मंदी आयी है। ऐसे समय में कई स्कूल माता-पिता को स्कूल फीस का भुगतान करने के लिए मजबूर कर रहे हैं। ऐसा ही अनुभव भिवंडी में देखने को मिला। एनईएस स्कूल प्रबंधन ने कोरोना अवधि की पूरी फीस लेने पर आमादा था साथ ही नए सत्र के लिए 15 प्रतिशत की वृद्धि भी कर दी। पालकों के लिए यह निर्णय वज्रपात की तरह था। 
अपनी समस्या को लेकर पालकों ने मनसे के ठाणे जिला ग्रामीण अध्यक्ष संतोष सालवी से संपर्क कर अपनी समस्याओं से अवगत कराया।
 संतोष सालवी के नेतृत्व में महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के प्रतिनिधिमंडल ने तारीख ०७ सितंबर २०२० को एनईएस स्कूल के हेडमास्टर संजय और सचिव असवाले से मिलकर इस वर्ष फीस में वृद्धि नहीं करने और छात्रों को रियायती दर पर फीस का भुगतान करने की अनुमति देने का अनुरोध किया। साथ ही स्कूल प्रबंधन से १५ दिनों के भीतर छात्रों के हित में निर्णय लेने की मांग की। लेकिन स्कूल प्रबंधन किसी भी तरह से बढ़ी हुई फीस को कम करने और माता-पिता की वित्तीय कठिनाइयों को समझने के लिए तैयार नहीं था। तब संतोष सालवी ने फैसला किया कि माता-पिता की मदद से एनईएस स्कूल के खिलाफ एक तीव्र आंदोलन किया जाएगा। इस बात को लेकर निजामपुर पुलिस स्टेशन को भी एक पत्र सौंपा।
इस आंदोलन की खबर से स्कूल प्रशासन हरकत में आया। स्कूल के ट्रस्टी सिंधी सर और सोसायटी के सचिव असवाले ने डीके म्हात्रे और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना थाना ग्रामीण के जिला अध्यक्ष संतोष सालवी से फिर से मिलने और ३ अक्टूबर को होने वाली पीटीए की बैठक में सकारात्मक निर्णय लेने का निर्णय किया। स्कूल ने ३ अक्टूबर को पीटीए की बैठक में एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया था कि इस साल ट्यूशन फीस नहीं बढ़ाई जाएगी और जून, जुलाई और अगस्त के तीन महीनों के लिए ट्यूशन फीस भी माफ कर दी जाएगी। 
एनईएस इंग्लिश स्कूल ने इस साल फीस में १५% की वृद्धि भी रद्द कर दी और जून, जुलाई और अगस्त के महीनों के लिए छात्रों की फीस में रुपये ३००० की छूट दी है। इस तरह लगभग ४००० छात्रों को लाभ हुआ है और कुल मिला कर फीस १,४४,००,००० रुपये माफ कर दी गई है। महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना, ठाणे जिला ग्रामीण और संतोष सालवी के लगातार प्रयास के कारण माता पिता को इतनी बड़ी राहत मिली है।
 संतोष सालवी ने इस अवसर पर कहा कि आज सभी माता-पिता के चेहरे पर संतुष्टि और खुशी है। उन्होंने एनईएस इंग्लिश स्कूल के ट्रस्टी सिंधी सर और सोसायटी के सचिव असवाल सर का हार्दिक आभार व्यक्त किया। उन्होंने उम्मीद जताया कि शहर के अन्य विद्यालय भी कोरोना जैसी महामारी के दौरान मानवीय सोच को बढ़ावा देंगे और छात्रों की फीस माफ करेंगे।
 संतोष सालवी ने आगे कहा कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राजसाहेब ठाकरे लगातार कहते हैं कि हमें हमेशा अन्याय के खिलाफ खड़े होना चाहिए और संकट के समय लोगों की मदद करनी चाहिए। स्कूल द्वारा माफ किया गया शुल्क केवल राजसाहेब ठाकरे की प्रेरणा के कारण ही संभव हुआ है।

Post a comment

 
Top