0

मुंबई : भारत और जर्मनी के बीच हुए एक द्विपक्षीय समझौते के बाद, लुफ्थांसा ने भारत में फ्रैंकफर्ट से मुंबई, दिल्ली, बैंगलोर एवं म्यूनिख से दिल्ली के मार्गों के लिए 13 अगस्त से इनबाउंड पैसेंजर फ़्लाइट्स की घोषणा की है। अगस्त के अंत तक दिल्ली, मुंबई और बैंगलोर के लिए 40 से ज़्यादा इनबाउंड फ़्लाइट्स ऑफ़र के तहत जारी रहेंगी। लुफ्थांसा अगस्त से आगे भी भारत के लिए इनबाउंड फ़्लाइट्स जारी रखने के लिए आवेदन करेगा और समय रहते भारतीय प्राधिकरणों के साथ बात पूरी की जाएगी।
साउथ एशिया सेल्स के लिए लुफ्थांसा समूह के सीनियर डायरेक्टर जॉर्ज एटीयिल कहते हैं, “हम लोगों को भारत लौटने और फ़िर से व्यापारिक यात्रा शुरू करने में मदद करके बेहद खुश और सौभाग्यशाली महसूस करता है, क्योंकि दुनिया अब धीरे-धीरे अनलॉक की ओर बढ़ रही है। भारत में आने वाली और भारत से जाने वाली हमारी फ़्लाइट्स, सुरक्षा और स्वच्छता के उच्चतम मानकों को कायम रखते हुए हमारे भारतीय ग्राहकों को इस अभूतपूर्व समय में यात्रा करने की सुविधा देने की लुफ्थांसा की निरंतर प्रतिबद्धता को दर्शाती है।
जुलाई के बाद से, लुफ्थांसा भारतीय ग्राहकों को फ्रैंकफर्ट और म्यूनिख एयरपोर्ट पर शॉर्ट नोटिस के बाद कोरोनोवायरस का परीक्षण करवाने का सुविधाजनक विकल्प देता आया है। इन पीसीआर कोरोनोवायरस परीक्षणों में केवल थ्रोट स्वाब की ज़रूरत पड़ती है और ये जर्मन स्वास्थ्य प्राधिकरण से प्रमाणित होते हैं। एटीयिल कहते हैं, “फ्रैंकफर्ट और म्यूनिख में हमारे हब्स में स्थित दोनों कोरोनोवायरस परीक्षण केंद्रों से जर्मनी में आने वाले ग्राहकों को क्वारंटीन होने से बचने का मौका मिलता है, अगर उनकी कोरोनावायरस की जांच निगेटिव आए तो। आमतौर पर परीक्षण के बाद चार से पांच घंटे के भीतर परिणाम मिल जाते हैं और ग्राहक की फ़्लाइट टिकट से जुड़े होते हैं। इससे दुनिया भर के अन्य देशों में सुरक्षित यात्रा करना भी आसान हो जाता है जो प्रमाणित पीसीआर कोरोनावायरस परीक्षण स्वीकार करते हैं, जिससे क्वारंटीन से बचा जा सकता है।

Post a comment

 
Top