0
स्वदेश वापसी अभियान के तहत सैकड़ों पूर्वांचल के भारतीयों को सयुंक्त अरब अमीरात से वापस भेजा गया

मुम्बई। पूरी दुनिया इस समय बहुत कठिन दौर से गुजर रही है। विश्व भर में लोग कोरोना की मार से बेहाल हैं। ऐसे में श्रमिकों का हाल किसी से छुपा नहीं है। देश और विदेश में फैले पूर्वांचलवासी श्रमिक बहुत परेशान और बेहाल हैं। दुबई में लगभग पांच लाख पूर्वांचली श्रमिक कार्यरत थे, पर कोरोना की मार ने उनकी नौकरियां छीन ली। उसके बाद सभी घर वापसी के लिए परेशान हो गए। परदेस से अपने देश लौटने की बेचैनी बढ़ने लगी, पर कोई फ्लाइट न होने के कारण सभी अपने घर नहीं आ पा रहे थे और दर दर भटक रहे थे। ऐसे में दुबई की संस्था पूर्वांचलियों के दुःख-सुख की साथी "पूर्वांचल प्रवासी मिलन" और भोजपुरी अभिनेत्री कनक पांडेय एक मसीहा बनकर सामने आये। उनसे अपने देशवासियों का दुःख देखा नहीं गया और जुट गई मजबुर हिन्दुस्तानियों की सकुशल घर वापसी के अभियान से। 

जबसे लॉकडाउन शुरू हुआ कनक पांडेय काफी वर्कर्स को रोज़ खाना खिलाती आ रही हैं। वह इस नेक काम मेे अब भी लगी हुई है। जब वह मजदूरों को खाना देने जाती थी, तो उनका दर्द उनसे देखा नहीं जाता था। लोग अपना हाल सुनाते सुनाते रोने लगते थे, फिर कनक पांडेय ने उन्हें उनके घर वापस भेजने का सोच लिया। जब कनक पांडेय ने पूर्वांचल प्रवासी मिलन (पी पी एम) के चेयरमैन सैकत कुमार से मजदूरों का दर्द बयान किया और अपनी सोच को सामने रखा तो उन्होंने कनक का पूरा सहयोग दिया। उनके साथ मिलकर कनक पांडेय ने इस मिशन को कामयाब बनाया और सैकड़ों मजदूरों और उनके हजारों घरवालों की दुआएं पाईं। कनक पांडेय, सैकत कुमार की कंपनी की पार्टनर भी हैं और इस नेक पहल को करके उनके दिल को जो सुकून मिला वो अद्वितीय है।

कनक पांडेय कहती हैं कि सैकत कुमार का जितना भी धन्यवाद किया जाए वो कम है। उनके इस योगदान के बिना इतना बड़ा काम संभव नहीं था। सैकत कुमार पूर्वांचल प्रवासी मिलन के चेयरमैन होने के साथ साथ स्काई कैप इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट लिमिटेड दुबई यूएई के सीआईओ और फाउंडर भी हैं।
आपको बता दें कि कनक पांडेय ने सैकत कुमार के सहयोग से स्वदेश वापसी अभियान के तहत 350 पूर्वांचल क्षेत्र के भारतीयों को सयुंक्त अरब अमीरात से वापस लखनऊ और जयपुर 19 तथा 20 जून को आईके इंटरनेशनल एयरपोर्ट से स्पाइस जेट की फ्लाइट से भेजा गया। भारत के अन्य शहरो जैसे गया, गुवाहाटी, कोलकाता के लिए भी फ्लाइट जल्द ही उड़ान भरेगी। उनकी वाराणसी की फ्लाइट 29 जून को उड़ान के लिए तैयार है।
यह सब नेक कार्य के पीछे विपुल, भारत के कांसुलेट जनरल अजय सिंह, स्पाइस जेट के चेयरमैन संजय खन्ना, आईके इंटरनेशनल एअरपोर्ट के सीइओ अवनीश कुमार अवस्थी, उत्तर प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी बाबूलाल मरांडी, नेता विपक्ष झारखण्ड सुनील तिवारी, रांची झारखण्ड के विपक्ष के नेता के पॉलिटिकल एडवाइजर की भूमिका प्रमुख रही है। साथ ही कुछ और नाम का ज़िक्र भी जरूरी है जैसे विकास, मनोज सिंह, रवि, मानस, गुरमीत, अशीम, शाहीन और प्रदीप शुक्ल।

 
कनक पांडेय का कहना है कि पूर्वांचल प्रवासी मिलन संस्था ऐसे लोगो की मदद हमेशा ही करती रहेगी तथा कोई भी किसी प्रकार की मदद के लिए हमें संपर्क कर सकता है। पूर्वांचल प्रवासी मिलन की स्थापना का उदेश्य ही बिहार, झारखण्ड तथा उत्तरप्रदेश के लोगो के बीच एक अच्छे सम्बन्ध को स्थापित करना है, खासकर वो लोग जो इन प्रदेशों से आकर सयुंक्त अरब अमीरात में रह रहे हैं।

Post a comment

 
Top