0
मुंबई: के-12 शिक्षा क्षेत्र में अग्रणी नेक्स्ट एजुकेशन इंडिया प्रा.लि. स्कूलों को अपने 'नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफॉर्म'के माध्यम से अपने टीचिंग-लर्निंग अप्रौच को नए सिरे से परिभाषित करने में सक्षम बना रहा है। यह एक इंटिग्रेटेड प्लेटफार्म है जो बिना किसी बाधा के रिमोट लर्निंग, एकेडेमिक और एडमिनिस्ट्रेटिव कार्यों को सुविधाजनक बनाता है। भारतभर में 2000 से ज्यादा स्कूलों ने शैक्षणिक और प्रशासनिक संचालन की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए यह सॉल्युशन अपनाया है।  
हाल ही में लॉकडाउन के मद्देनजर नेक्स्ट एजुकेशन ने नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफॉर्म में एक लाइव लेक्चर फीचर भी जोड़ा है। इससे यह स्कूलों में ऑनलाइन जाने के लिए वन-स्टॉप सॉल्युशन है। यह प्लेटफार्म अपनी पुरस्कार विजेता डिजिटल सामग्री, ऑनलाइन असाइनमेंट, पर्सनलाइज्ड असेसमेंट्स और तत्काल प्रतिक्रिया और मूल्यांकन के साथ छात्रों के ऑनलाइन लर्निंग अनुभव को बढ़ाने के लिए शिक्षकों को अपनी रणनीतियों को कस्टमाइज करने में भी मदद करता है। इस प्लेटफार्म का एक उल्लेखनीय लाभ यह है कि यह घर में स्कूल जैसा लर्निंग माहौल बनाता है। शिक्षकों को अपने घर के आराम में रहकर शैक्षणिक गतिविधियों के संचालन को नियंत्रित करने और निगरानी का अधिकार देता है।
नेक्स्ट एजुकेशन के सीईओ और सह-संस्थापक ब्यास देव रल्हान ने कहा, 'इसमें कोई संदेह नहीं है, शिक्षा प्रणाली के लिए ऑफ़लाइन से ऑनलाइन संक्रमण कई स्कूलों के लिए चुनौतीपूर्ण है। नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म के साथ यह आसान हो रहा है। नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म को स्वीकारना और देशभर के स्कूलों की सकारात्मक प्रतिक्रिया इस बात का संकेत है कि स्कूलों के लिए ई-लर्निंग टूल्स पर स्विच करना आवश्यक है और इससे वे लर्निंग को और अधिक उत्पादक व आकर्षक बनाने के लिए घर से काम भी कर सकते हैं। कार्यान्वयन और यूजर के अनुकूल इंटरफेस की आसानी से नेक्स्ट लर्निंग प्लेटफार्म बिना किसी बाधा के गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सुलभ बनाता है।

Post a comment

 
Top