0


नालासोपारा - देश में चल रही वैश्विक महामारी कोरोना से जहाँ आम लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है वहीं प्रतिदन कमाने खाने वालों के सामने दो वक़्त की रोटी का संकट खड़ा हो गया है। लेकिन हम सबका यह लक्ष्य है कि कोई भी भूखा नहीं सो पाये। रही बात कोरोना की तो हमारे देश की जनता के बुलंद हौसलों के आगे बहुत जल्द ही कोरोना घुटने टेक देगा, यह कहना है सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था 'शक्ति जनहित मंच' के अध्यक्ष गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव (संजू) का।
बता दें कि सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था ‘शक्ति जनहित मंच’ और साप्ताहिक समाचार पत्र द्वारा इन दिनों कोरोना महामारी के चलते घोषित हुए लॉकडाउन की वजह से प्रभावित हुए परिवारों में प्रतिदिन राशन एवं अन्य जीवन उपयोगी सामग्री का वितरण किया जा रहा है। जिनके पास खाना पकाने का साधन नहीं है उन्हें भोजन का पैकेट, खिचड़ी इत्यादि दिया जा रहा है। इस दौरान ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी, ट्रैफिक हवलदार और अन्य सरकारी कर्मचारियों को मास्क व  सेनेटाइज़र भी द्वारा दिया जा रहा है।
गौरतलब है कि लॉकडाउन की वजह से सबसे ज्यादा दिहाड़ी काम करने वाले और मजदूर वर्ग के लोग प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा रिक्शा व टैक्सी चालक भी रोजी-रोटी को लेकर परेशान हैं। संस्था द्वारा ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें राशन, बच्चों का दूध, मास्क, सेनेटाइजर व अन्य जीवन उपयोगी सामग्री दिया जा रहा है। अब तक 500 से 600 परिवारों को एक महीने का राशन और अन्य जीवनोपयोगी सामग्री दिया जा चूका है। आगे 2000 परिवारों को लाभ पहुंचने का लक्ष्य है। जब तक लॉक डाउन रहेगा तब तक यह सिलसिला चलता रहेगा।
'शक्ति जनहित मंच' संस्था और साप्ताहिक समाचार पत्र विगत कई वर्षों से समाजसेवा का कार्य कर रही है। संस्था द्वारा गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण, मेडिकल सहायता, शिक्षण सहायता एवं दो नि:शुल्क एम्बुलेन्स जैसी सेवायें नियमित रूप से संचालित हो रही है। सूखा और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा के समय भी संस्था द्वारा प्रभावित हुए लोगों की मदद की जाती है। संस्था और समाचार पत्र के सहयोग से साल 2019 में ही 12 लाख से ज्यादा की सहयोग राशि विभिन्न प्रकार के लाभार्थियों को दिलाई गयी।
'शक्ति जनहित मंच' संस्था के अध्यक्ष और समाचार पत्र  संपादक गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव (संजू) ने कहा कि सभी क्षेत्रीय सांसद, विधायक, स्थानीय नगर सेवकों व जनप्रतिनिधियों तथा सभी सक्षम लोगों से निवेदन है कि इस संकट की घड़ी में कोई राजनीति न करते हुए सबकी मदद के लिए आगे आएं। हमारे और आपके आस पास कोई भूखा न सोये हमें इसके ध्यान रखना है। हमें कोरोना से तो जंग जीतना ही है इसके साथ ही कोई भूखमरी का शिकार न हो, इसका भी ध्यान रखना है।

Post a comment

 
Top