0

मुम्बई : भारत के अग्रणी फर्नीचर और इंटीरियर सॉल्यूशन ब्रांड गोदरेज इंटीरियो ने अपने नए कैम्पेन ‘मेक स्पेस फॉर लाइफ‘ के तहत लोकप्रिय अभिनेता सोनू सूद की बहन के घर की काया पलट दी। यह नया कैम्पेन इस बात पर जोर देता है कि अपने प्रोफेशन में श्रेष्ठ देने के दबाव के कारण हम अपने परिवार से जुड़ाव और परिवार व दोस्तों के साथ अच्छा समय बिताने के अवसरों को खोते जा रहे हैं।
गोदरेज इंटीरियो ने लोकप्रिय एक्टर सोनू सूद की बहन के मोगा स्थित घर को पूरी तरह बदल कर अपनी प्रतिबद्धता को और मजबूत किया है। सोनू अपनी बहन को ऐसा घर देना चाहते थे जो आज के समय के हिसाब से हो, सुंदर हो और जहां सोनू, उनकी बहन और उनका परिवार मिल कर अच्छा समय गुजार सकें। सोनू पूरी तरह से नया लुक और फील चाहते थे जिसमें बदलाव दिखे और जो ताजगी लाए और जहां वे परिवार के रूप में ज्यादा मस्ती और खुशी भरा समय बिता सकें।
सोनू की बहन के लिए यह बहुत शानदार तोहफा था। गोदरेज इंटीरियो की टीम को धन्यवाद देते हुए सोनू बेहद खुश थे। उन्होंने कहा कि मेरी बहन अपने घर को पूरी तरह बदला हुआ देख कर बहुत खुश है। मैं एक बार फिर गोदरेज इंटीरियो की टीम को इस बात के लिए धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मेरी बहन के ड्रीम होम को साकार करने में हमारी सहायता की। गोदरेज इंटीरियो की टीम ने इंटीरियर से संबंधित लेटेस्ट ट्रेंड्स, फर्नीचर डिजाइन, कलर पेलेट, और दूसरी तमाम ऐसी चीजें जुटाई, जो हमारी पसंद और व्यक्तित्व के अनुसार हैं। इस घर में वह और उसका परिवार मस्ती और खुशी के साथ ज्यादा समय बिता सकते है। मैं उस घर में अब और ज्यादा समय बिता कर अपनी यादें और बढाना चाहूंगा।
गोदरेज इंटीरियो के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर अनिल माथुर ने कहा कि दरअसल ‘मेक स्पेस फॉर लाइफ‘ भारतीय लोगों के काम और जीवन में सुंतलन के महत्व को प्रतिबिम्बित करता है। मेकिंग स्पेस फॉर लाइफ का आइडिया भारतीयों के लिए बहुत महत्व रखता है और ऐसा सिर्फ भौतिक रूप में ही नहीं बल्कि उस दबाव और ऑब्लिगशन के रूप में भी इसका महत्व है जो हम हर रोज महसूस करते हैं। आज के प्रोफेशनल्स अपने परिवार से दूर होते जा रहे हैं और परिवार व दोस्तों के साथ अच्छा समय बिताने के अवसर खो रहे हैं, क्योंकि उन पर प्रोफेशनल जीवन का बहुत ज्यादा दबाव है। हमारा सर्वे बताता है कि काम के बहुत ज्यादा दबाव के कारण भारतीयों को अपने परिवार और चहेते लोगों के साथ समय बिताने और जुड़ने का समय कम मिल रहा है। वैसे तो तकनीक सुविधा देती है, लेकिन इस ट्रेंड को बढाने में इसका भी योगदान है। ऐसी जानकारियां भारतीयों के काम और जीवन के बीच संतुलन की स्थिति के बारे में बताती हैं। एक ब्रांड के रूप में गोदरेज इंटीरियो ने अपने नए तरह के फर्नीचर डिजाइन के जरिए घरों को जीवंत बनाने की कोशिश की है और काम में जुटे प्रोफेशनल्स को यह याद दिलाने की कोशिश की है कि विभिन्न तरह के दबावों के बावजूद हमें अपने घरों में पैशन, परिवार और दोस्तों के लिए जगह बनाए रखनी चाहिए। हम सोनू की बहन के घर को उसके परिवार के सपनों के घर जैसा बना कर बहुत खुशी महसूस कर रहे हैं।
हाल में किए गए गोदरेज इंटीरियो के सर्वे के अनुसार भारत के हर तीसरे (34 प्रतिशत) वर्किंग प्रोफेशनल को काम के दबाव के कारण अपने बच्चों परिवार और दोस्तों के साथ अच्छा समय बिताने  के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है। अध्ययन यह भी बताता है कि 64 प्रतिशत लोगों ने माना कि वे अपने परिवार को ज्यादा समय नहीं दे पा रहे हैं। वहीं 28 प्रतिशत ने माना कि वे अपने जीवनसाथी के साथ अच्छा समय नहीं बिता पा रहे हैं। इसी तरह 21.2 प्रतिशत और 16.2 प्रतिशत लोगों ने माना कि वे अपने दोस्तों और माता-पिता को पूरा समय नहीं दे पा रहे हैं।

Post a comment

 
Top