0



  सामाजिक संस्था यलगार फाउंडेशन की प्रथम साहित्यिक काव्यगोष्ठी व प्रथम न्याय कैलेन्डर का लोकार्पण पं. शिवप्रकाश जौनपुरी के मार्गदर्शन में तथा रमेश श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मुख्य अतिथि पं. राजेश मिश्र, पं. ओमप्रकाश मिश्र व सौ. प्रमिला यादव के करकमलों द्वारा सम्पन्न हुआ।
   इस अवसर पर डॉ. वर्षा सिंह के संचालन में एक बेहतरीन काव्य संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें अपनी नवरस से परिपूर्ण गीत गजल छंद कविता को प्रस्तुत कर कवि पं. शिवप्रकाश जौनपुरी, अल्लहढ़ असरदार, निर्मल नदीम, मिल्टन राय, महेश गुप्त जौनपुरी, मंगेश प्रताप माही, श्रीनाथ शर्मा, तरुण गुप्त तनहा, रमेश श्रीवास्तव, रितेश गौड़, दीपक खेर, अवधेश यदुवंशी, कवयित्री सौ. इंदू मिश्रा, सुमन तिवारी व वर्षा सिंह ने उपस्थित श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। कवि कवयित्रियों का श्रोताओं ने तालियों से खूब उत्साहवर्धन किया।
  आयोजक सुभाष यादव, यलगार फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष व प्रथम न्याय सप्ताहिक अखबार के प्रधान सम्पादक ने सभी अतिथियों का सम्मान शॉल श्रीफल व तुलसी का पौधा भेंट कर किया। उनके सहयोगी रफीक ने सभी आगंतुकों की खूब आवाभगत की।
   आयोजन की शुरुआत माँ सरस्वती के चित्र पर अतिथियों द्वारा माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर पूजा अर्चना से हुई। मुख्य अतिथि प.ओमप्रकाश मिश्र ने आयोजन की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए साधुवाद दिया। पं.राजेश मिश्र ने संक्षिप्त प्रकाश डाला और आयोजक मंडल को साधुवाद दिया। सौ. प्रमिला यादव  ने भी भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए साधुवाद दिया। अध्यक्षीय भाषण में रमेश श्रीवास्तव ने साधुवाद देते हुए रचनाकारों में और रचना करने की ललक पैदा किया और कहा कि ऐसे साहित्यिक आयोजन होते रहने चाहिए।
  अंत में आयोजक सुभाष यदुवंशी ने सभी कवि कवयित्रियों अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए अभिनंदन किया व सतत आयोजन करने के लिए सहयोग भी माँगा।

Post a comment

 
Top