0

दिनांक 12/01/2020 को भायंदर पूर्व के ब्रम्हकुमारी राजयोग सेंटर में हस्ताक्षरम् साहित्यिक संस्था की तृतीय मासिक काव्यगोष्ठी संपन्न हुई। इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद की जीवनी पर विशेष चर्चा के साथ हरिप्रसाद राय ने उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला। डॉ. मृदुल तिवारी "महक" के काव्य संग्रह "महक मंजरी", कवि व पत्रकार राजेश त्रिपाठी की किताब "माय डिअर लड़कियों" व डॉ. शिवधनी पांडेय की किताब "रिसता रिश्ता" का विमोचन हुआ।
काव्य गोष्ठी की अध्यक्षता डॉ. शिवधनी पांडेय ने व संचालन राजेश त्रिपाठी ने किया। मुख्य अतिथि प्रमोद कुश "तनहा" विशेष अतिथि आलोक द्विवेदी व वरिष्ठ कवि सरस पांडेय की उपस्थिति में डॉ. मृदुल तिवारी 'महक' द्वारा सरस्वती वंदना के पश्चात उपस्थित कवियों में अमरनाथ द्विवेदी, श्रीनाथ शर्मा, कुमारी मानसी, निर्मल "नदीम", राजेश "अल्हड़ असरदार", हरिप्रसाद, इंदु मिश्रा, सुमन तिवारी, संदीप प्रजापति, तरुण तनहा, आदि कवियों ने काव्य पाठ किया।
दुर्गावती पाल, स्मिता यादव, वंदना तिवारी, नगीना पाल, ज्ञानेश तिवारी, रेशमा तिवारी, दिव्यांशु तिवारी, सत्यांशु तिवारी, स्वस्तिक तिवारी, विवेक तिवारी, दिग्विजय सिंह, जटाशंकर मिश्र तथा हरीश वर्मा व अन्य श्रोतागणों ने विभिन्न रसो से परिपूर्ण काव्यसंध्या का भरपूर आनंद लिया। संस्था के अध्यक्ष वाचस्पति तिवारी ने सभी अतिथियों, कवियों व श्रोताओं का आभार प्रदर्शन किया व भविष्य में भी साहित्य सेवा के लिए सभी का आव्हान किया।

Post a comment

 
Top