0







मुम्बई : 24 नवम्बर रविवार के दिन कृष्णा रिकॉर्डिंग स्टूडियो गोरेगांव में दिगंबर जैन मुनि आचार्य विद्यासागर के आधयात्मिक जीवन पर आधारित हिंदी फिल्म 'अन्तर्यात्री महापुरुष' का संगीतमय मुहूर्त बड़े ही भव्यता के साथ संपन्न हुआ। इस फ़िल्म के लिए संगीतकार सतीश देहरा ने अमित कुमार और अनुराधा पौडवाल के स्वर में गीत रिकॉर्ड किया जिसे सुधाकर शर्मा ने लिखा है। इसके अलावा फ़िल्म में सुधाकर शर्मा द्वारा रचित 9 गाने होंगे जिसे अनूप जलोटा, अरविंदर सिंह, पामेला जैन, रामशंकर और अगम निगम अपनी सुमधुर स्वर में गाएंगे। यह फ़िल्म शिरोमणि क्रिएशन के बैनर तले निर्मित होगी जिसके लेखक निर्देशक अनिल कुलचैनिया, संवाद लेखक भरत बेनीवाल और सह निर्माता उमेश मल्हार हैं।
इस फ़िल्म में गजेंद्र चौहान विद्यासागर के माता पिता की भूमिका में गजेंद्र चौहान और किशोरी शहाणे विज होंगे साथ ही अलाइना भी महत्वपूर्ण किरदार निभाएंगी।
 निर्देशक अनिल कुलचैनिया ने बताया कि फ़िल्म में आचार्य विद्यासागर के शुरुआती जीवन से दीक्षा ग्रहण तक की गाथा को दर्शाया जाएगा। मैंने इस फ़िल्म के लिए लगभग दो वर्षों तक शोध कार्य किया है साथ ही जैन धर्म के अनुसार अपना जीवन व्यतीत कर रहा हूँ। फ़िल्म की शूटिंग आचार्य की जन्मस्थली कर्नाटक राज्य के बेलगांव जिले स्थित सदलगा से लेकर उनकी दीक्षा स्थली अजमेर (राजस्थान) के अलावा कई हिस्सों में की जाएगी। किसी महान इंसान की बायोपिक बनाना बड़ा ही चुनौतीपूर्ण कार्य है जिसके लिए मुझे बहुत तैयारी करनी है। आचार्य जी के युवावस्था के समय को ध्यान में रखते हुए सेट तैयार करना बड़ी जिम्मेदारी होगी। इस फ़िल्म की शूटिंग भी पूरी तरह से सात्विक ढंग से निपटाई जाएगी।
आचार्य विद्यासागर जी की भूमिका के लिए ऐसे सशक्त अभिनेता की तलाश जारी है जो संत प्रवृत्ति का हो।
आपको बता दें कि दिगंबर जैन मुनि आचार्य विद्यासागर का बचपन का नाम विद्याधर था। उन्होंने हाई स्कूल की पढ़ाई के बाद मात्र 22 वर्ष में सन्यास ले लिया था। अजमेर में उन्होंने आचार्य ज्ञानसागर से दीक्षा ग्रहण किये और त्याग, तपोबल से ये महान साधक जैन समाज के लिए पूजनीय बन गए हैं।

संतोष साहू

Post a comment

 
Top