0


सचिन पारिख ने बतौर अभिनेता फ़िल्म , टीवी , विज्ञापन फ़िल्म और रंगमंच में काम करते हुए अपनी अलग पहचान बनाया है।मॉडलिंग के क्षेत्र में भी इनका जाना पहचाना नाम है। इनकी फिल्मी यात्रा बेहद प्रभावशाली रही है । कैरियर के शुरुआती दौर में ही इन्हें मशहूर अभिनेताओं के साथ काम करने का मौका मिला और कई बेहतरीन फिल्मों में भी नजर आए । जिनमें से अमतोज मान निर्देशित फिल्म काफिला है । इस फ़िल्म में वह सनी देओल के साथ काम किये । उसके बाद निर्देशक आर बल्की की ' पा ' में अमिताभ बच्चन, विद्या बालन और अभिषेक बच्चन के साथ , निर्देशक प्रदीप सरकार की ' लागा चुनरी में दाग़ ' में अभिषेक बच्चन, रानी मुखर्जी, कोंकणा सेन शर्मा के साथ , निर्देशक मधुर भंडारकर की ' दिल तो बच्चा है जी ' में अजय देवगन, इमरान हाशमी के साथ अभिनय करते नज़र आये ।
  गुजराती अभिनेता होने के कारण मेहुल कुमार द्वारा निर्मित गुजराती धारावाहिक दहदा ससुना में मुख्य नायक की भूमिका निभाते हुए इन्होंने  टेलीविज़न में अपनी सफल अभिनय यात्रा शुरू की थी, यह धारावाहिक 1000 से अधिक एपिसोड के लिए चली और अपने आप में एक इतिहास रचा । यह 2004 से 2007 तक चली और तब से गुजराती के साथ साथ हिंदी टेलीविज़न के क्षेत्र में भी सचिन ने टेलीविज़न की दुनियां में अपना मुक़ाम हासिल किया । वे स्टार प्लस पर प्रसारित हिंदी धारावाहिक जहाँ पे बसेरा हो  और काली एक अग्निपरीक्षा में काम किये। सबटीवी पर डोंट वरी चाचू में नजर आए। सोनी टीवी पर पाउडर के साथ ही स्टार वन पर स्टार हॉरर नाइट्स धारावाहिकों में भी मुख्य भूमिकाएं निभाई । एनडीटीवी इमेजिन पर परदेस में मिला कोई अपना सा , कलर्स पर ना बोले तुम न मैंने कुछ कहा आदि कई  धारावाहिकों में उन्हें देखा गया । जल्द ही एक और यादगार भूमिका में सचिन नज़र आने वाले हैं ।
   इसके अलावा कॉर्पोरेट फिल्मों में भी सचिन ने क्वेकर ओट्स, जॉनसन एंड जॉनसन, एल आई सी ऑफ इंडिया , शेरखान डॉट कॉम , मारुति, ओमनी , टाटा स्काई, बिज़नेस स्टैंडर्ड, स्टैंडर्ड इलेक्ट्रिकल्स, रिलायन्स लाइफ़ इन्सुरे,नेस्टच मंच , बिग बाज़ार जैसी व्यावसायिक विज्ञापन फ़िल्मों में काम किया है साथ ही इमामी हेयर कलर, डाबर रेड टूथपेस्ट, क्रॉम्पटन ग्रीव्स, अंकुर ऑयल, सफोला कुकिंग ऑयल, जेट एयरवेज, ग्लूकोन-डी, हैरिसन लॉक्स, श्री गोल्ड ढाल, वीबीजे डायमंड्स जैसी कई और अधिक विज्ञापनों में सचिन पारिख नज़र आये।
    सचिन को दादासाहेब फाल्के पुरस्कार गुजराती टीवी और रंगमंच में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में योगदान के लिए प्राप्त हुआ । साथ ही फिल्म फाउंडेशन पुरस्कार (2017) में और टीवी शो झलका सपना के लिए (2007) सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से ट्रांसमीडिया द्वारा सम्मानित हुये।अहमदाबाद में तिथाई द्वारा विज्ञापन दुनियाँ में सर्वश्रेष्ठ ग्लैमरस गुजराती चेहरे के लिए पुरस्कृत हुए।
     सचिन पारिख ने हिंदी फिल्म लवशुदा में गौरव का ब्रदर इन लॉ , इश्क फॉरएवर में महेश बाबू , अलीगढ़ में अनुज , पीके में तपस्वी जी का मैनेजर , लागा चुनरी में दाग , काफ़िला में गुजराती का किरदार निभाया था ।
     अंतराष्ट्रीय धारावाहिकों में सचिन ने काम किया हैं इनका धारावाहिक दिल्ली में ' द मोस्ट ब्यूटीफुल हैंड इन डेल्ही ' ( स्वीडिश टेली सीरीज़ ) था जिसका निर्देशन एक प्रसिद्ध सिने ऑस्कर नामांकित निर्देशक हेन्नस होलमेस ने किया है। इसमें सचिन ने विवेक मल्होत्रा नामक व्यक्ति का किरदार निभाया था जो ​​भारत का दिल्ली बेस्ड बिजनेस टाइकून था।
       एक रंगमंच अभिनेता के रूप में, सचिन ने कुछ भूमिकाएँ निभाई हैं जो गुजराती रंगमंच में दिलचस्प भूमिकाओं के रूप में निखर के आये थे। उनके नाटक इस प्रकार हैं - गुजराती नाटक
मसाला मामी में सरिता जोशी के साथ , सियार तु आवे तो जानू में केतकी के साथ , प्रेम करो भाई प्रेम करो में दिनेश हिंगु के साथ , डिकरो तो वाहू नी थापन कहीवे में कृतिका देसाई के साथ , तो करो श्री गणेश में रागिनी के साथ , आप जे घर मा नो एंट्री में दिनेश हिंगु के साथ , कांजी वर्सेज़ कांजी में टीकू तलसानिया के साथ इन्होंने काम किया .
      हिंदी नाटक साथ रहेगा हमेशा में पद्मिनी कोल्हापुरे के साथ ,
रिश्तों का लाइव टेलिकास्ट में रीमा लागू और अंजन श्रीवास्तव के साथ , हम दो हमारे वो में अनूप सोनी और स्मिता बंसल के साथ ,
डील वाली दुल्हनियां (स्वतः निर्देशित) , तोता मैना की कहानी में हिमानी शिवपुरी और महेश ठाकुर के साथ सचिन ने काम किया।
     सचिन पारेख टेलीविजन दुनियां का जाना माना नाम है क्योंकि उन्होंने लोकप्रिय हिंदी दैनिक धारावाहिकों में कई दिलचस्प और यादगार भूमिकाएँ निभाई हैं । उनके कुछ धारावाहिक में से कुछ
हिंदी धारावाहिकों के नाम हैं - एक दीवाना था (सोनी टीवी) , दिल से दिल तक (कलर्स टीवी) , ना बोले तुम ना हमने कुछ कहा (कलर्स टीवी) , काली एक अग्निपरीक्षा (स्टार प्लस) , जहान पे बसेरा हो ( स्टार प्लस ) , डोन्ट वरी चाचू ( सब टीवी ) , परदेस में मिला कई अपना ( NDTV ) , ये रिश्ता क्या कहलाता है ( स्टार प्लस ) , इस प्यार को क्या नाम दूँ ( स्टार प्लस )
सचिन के गुजराती धारावाहिक दाहदा ससुना ने 1000 एपिसोड पुरे किए , झांकल भीना सपना ने 550 एपिसोड पूरे किए । इन दोनों नाटकों में मुख्य भूमिका में थे।
      सचिन ने कला के सभी क्षेत्रों में हाथ आजमाया है चाहे  गुजराती हो या हिंदी सभी जगह चाहे वो रंगमच, धारावाहिक, विज्ञापन,मॉडलिंग या फ़िल्म ही क्यों न हो उन्होने काम किया है और प्रसिद्धि भी पाई है। साथ ही अपने अभिनय के लिए सम्मानित भी हुए हैं।

Post a comment

 
Top