0

रवींद्र वायकर को मिली लोगों की दुवाये


जोगेश्वरी स्थित इंदिरा नगर के रहीवासियो को मिला अपने हक का घर

मि. प. संवाददाता/ मुंबई 
 जोगेश्वरी विधानसभा क्षेत्र इंदिरा गांधी नगर के नागरीक रेल्वे के नाशक कार्यवाही के वजह से बेघर हो गये थे. ऐसे में  उस विधानसभा क्षेत्र के विधायक और राज्यमंत्री रवींद्र वायकर ने विक्रमी समय में इंदिरा नगर के रहिवासियो को माहुल में उनके हक का घर दिलाया. इसी वजह से समस्त रहिवासियो और शिवसेना कार्यकर्ताओ ने रवींद्र वायकर को गौरवान्वित किया. रेल्वे के हद में आणि वाली सभी झोपडीयो को हटाया जाये ऐसा आदेश सर्वोच्च न्यायालय ने दिया था. इसी वजह से यहा पर ५० सालो से भी अधिक समय तक जोगेश्वरी पूर्व स्थित इंदिरा नगर में  रेहने वाले नागरीको की झोपडीया फेब्रुवारी में  नष्ट की  गयी थी. इस कार्यवाही की वजह से करीब १२० परिवारो पर आफत आ गयी थी. विधानसभा क्षेत्र के विधायक और राज्यमंत्री के आदेश पर शिवसेना कार्यकर्ताओ ने सडक पर आये हुये उन परिवारो केलीये विभाग के समाजमंदिर में रहने की व्यवस्था की. इस 
कार्यवाही के  बाद उन परिवारो को उनके हक का घर मिल जाये इसीलिये रवींद्र वायकर ने  राज्यपाल और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ इंदिरा नगर रहिवासियो की  मुलाकात भी करवाई. मुलाकात के वक्त वायकर ने इन सभी नागरीको को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत २०२२ तक सबको घर  इस हिसाब से न्याय दिया जाये ऐसी बात स्पष्टरूप से रखी. इतनाही नही साल २००० तक याह रेहने वाले नागरीको को घर देना राज्य सरकार का नियम है, ऐसा होते हुये इन रहिवासियो की वैकल्पिक रहने की व्यवस्था न करते हुये इनकी झोपडीया नष्ट करना उचित नही है. ऐसी बात वायकर ने मुख्यमंत्री के सामने रखी. जिसके बाद MMRDA द्वारा निकाली गयी लॉटरी पद्धती से १२० मे सें १०२ परिवारो को माहुल में उनके हक का घर दिलाया. इतने कम समय में नये घर मिलने की वजह से खुश सभी नागरीको ने गुरुवार को राज्यमंत्री रवींद्र वायकर का आदर सत्कार किया और उन्हे शुक्रिया कहा . उपविभाग प्रमुख  विश्वनाथ सावंत, शालिनी सावंत, शाखाप्रमुख अमर मालवणकर, दिपाशा पवार, शिला ऐरागी, राजेश हेगडे, रहिवासी रविंद्र खवणेकर, फुलचंद कांबळे, उमेश राणे, उमेश कदम आदी मान्यवर तथा समस्त इंदिरा गांधी नगर के रहिवासी इस समारोह में मौजूद थे. 
   

Post a comment

 
Top