0



बॉलीवुड में खेलों पर आधारित फिल्मो को दर्शको ने हमेशा पसंद किया है । चक दे इंडिया , गोल ९० मिनट्स  ,  दंगल और सुल्तान सहित   ऐसी कई फिल्मे है जो खेलो पर आधारित रही है अब इसी कड़ी में  निर्देशक गणेश मेहता की अपनी आनेवाली फ़िल्म " मेडल "  एक मुक्केबाज़ के जीवन पर आधारित हैं  दरअसल देश में खेल और खिलाड़ियों के प्रति प्रशासनिक एवं राजनैतिक उदासीनता के चलते हमेशा से प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को कई बार आर्थिक समस्याओँ से दो चार होना पड़ता है। जी के एंटरटनमेंट बैनर तले निर्मित " मेडल - पेट नहीं भरता " में मुख्य किरदार में मुजाहिद  खान, इंद्रिशा बसु , तनुश्री बसक और अजय शर्मा नजर आयेंगे।  " मेडल " एक महत्वाकांक्षी मुक्केबाज जीतू (मुजाहिद खान ) की कहानी है जिसकी परिवार की अपनी प्राथमिकताये हैं। जीतू को अपने परिवार की जरूरतों को पूरा करना है लेकिन साथ ही मुक्केबाज़ के तौर पर अपनी निजी जरूरतें हैं।  वह अपनी लिए महंगे  उच्च प्रोटीन आहार को ख़रीदने  के लिए बहुत मेहनत करता हैं   ताकि वह अपने गोल्ड मैडल  जितने के  सपने को पूरा कर सकें। अपने परिवार की ज़िम्मेदारियों को पूरा करने ने लिए  मुक्केबाजी की प्रतियोगिता छोड़नी पड़ती है लेकिन जीतू अपने सपने को जीना चाहता है स्वर्ण पदक प्राप्त करने की महत्वाकांक्षा जीतू को  फिर से दोबारा संघर्ष करने के लिए प्रेरित करती है आखिर  विश्व चैंपियनशिप जीतने के बाद भी जीतू को  एक स्वर्ण मेडल मिलता हैं लेकिन एक दिन आर्थिक तंगहाली में जीतू को पता चलता हैकि उसे पुरस्कार में मिला मैडल गोल्ड प्लेटेड़ है । फिल्म की कहानी बेहद ही इमोशनल और दिल को छू लेनेवाली है,  फिल्म की कहानी के साथ ही गणेश मेहता ने फ़िल्म के गाने भी लिखे है साथ ही संगीत निर्देशन भी किया है । फिल्म की शूटिंग इलाहाबाद , बिलासपुर और मुंबई में की गयी है।  

निर्माता निर्देशक गणेश मेहता का कहना है कि " जीतू का सपना देश के लिए गोल्ड मैडल जितना है साथ ही उसे अपनी आर्थिक तंगी से भी बाहर निकलना है गोल्ड मैडल के  लिए वह सब कुछ दांव पर लगा देता है लेकिन जीतू जिस मेडल से अपनी आर्थिक जरूरतों  को पूरा  करने की  उम्मीद करता है उसी से उसको सबसे बड़ी निराशा मिलती है हमें उम्मीद है कि यह फिल्म आज को युवाओ को अपने सपने पूरा करने की प्रेरणा के साथ ही खेल जगत की दुनिया के पीछे के दुनिया से भी परिचित कराएंगी । मेडल १९ जनवरी २०१८ को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी ।
( संतोष साहू )


Post a comment

 
Top