0

मुम्बई। लोगों की सेवा करना इस महामारी के वक़्त एक सौभाग्य की बात है। कोरोना के इस दूसरी लहर से हर कोई भयभीत है, न ऑक्सीजन मिल रहा है, न मेडिसन और न ही राशन, पर समाज में कुछ फरिश्ते हैं जिसे कोई भी नाम से पुकारा जा सकता है, ऐसे ही एक नाम है जैन साधक श्रद्धेय देवेंद्र भाई का। जो गरीबो और जरुरतमंदो की सेवा करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते। अक्सर जो बन सके वह करते ही नजर आते रहते हैं। जब से लॉकडाउन और कोरोना महामारी से देश जंग लड़ रहा है तब से ही देवेंद्र भाई और सक्रीय हो गए। राशन से लेकर अन्य जरुरत की चीजों को गरीबों और जरुरतमंदो तक पहुंचाते हैं, पर कभी दिखावा कभी नहीं किया। आज वह सामने इसलिए आये की इनको देख और भी लोग प्रेरित हो और आगे आकर सेवा करे। देवेंद्र भाई ने जरुरतमंदो को आज राशन वितरण किया और आगे भी जो हो सके वह करने की कोशिश करते रहेंगे।

 उन्होंने कहा कि जितने लोग कोरोना महामारी से अपना जीवन  खोया उससे कहीं अधिक समय पर इलाज नहीं मिलना और ऑक्सीजन की कमी के कारण उन्होने अपनों के जीवन को खोया है।

Post a comment

 
Top