0

 - पालतू और आवारा जानवरों के लिए निःशुल्क रैबीज टीकाकरण का आयोजन: सुधीर मोरे, अध्यक्ष एफडीसीडब्ल्यूसी

- सेलेब्रिटी गेस्ट के रूप में हीरो राजन कुमार उर्फ चार्ली चैप्लिन 2 मौजूद 

मुम्बई। जानवरों की देखभाल और देश को रैबीज़ मुक्त बनाने के उद्देश्य से मुंबई में अपनी तरह का एक पहला मेडिकल कैंप का सफ़ल आयोजन किया गया।

फूड एंड ड्रग्स कंज्यूमर वेलफेयर कमिटी (पशुपालन प्रकोष्ठ) ईगल 9 पर क्लिनिक के सहयोग से इस अनोखे कार्यक्रम का आयोजन किया गया जहां सेलेब्रिटी गेस्ट के रूप में हीरो राजन कुमार और अभिनेता जे. ब्रैंडन हिल मौजूद थे। 

पूर्व मुख्यमंत्री श्री पृथ्वीराज चव्हाण ने एफडीसीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष सुधीर मोरे को इस अनोखे कार्यक्रम के लिए शुभकानाएं दीं, जब सुधीर मोरे ने उनसे मुलाक़ात की।

एफडीसीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष सुधीर मोरे ने यहां मीडिया को बताया कि मुंबई शहर में अपनी तरह के इस अनोखे और पहले कार्यक्रम में पालतू और आवारा जानवरों के लिए निःशुल्क रैबीज टीकाकरण और चिकित्सा जांच शिविर का आयोजन बहुत कामयाब रहा। हमें उम्मीद से ज़्यादा इसका रिस्पॉन्स मिला। 

14 फरवरी 2021 को यह शिविर कांजुर मार्ग पूर्व, मुंबई में आयोजित किया गया।

एफडीसीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष सुधीर मोरे, एफडीसीडब्ल्यूसी पशुपालन प्रकोष्ठ, (महाराष्ट्र) के अध्यक्ष सुरेन्द्र मारचंडे, डॉ विनोद चव्हाण, प्रशांत पवार (नेशनल जेनरल सेक्रेटरी) और नैना कनाल (नेशनल सेक्रेट्री) के द्वारा यह प्रोग्राम सफलतापूर्वक आयोजित किया गया। यहां चार्ली चैप्लिन के रूप में हीरो राजन कुमार ने अपनी लाइव परफॉर्मेंस भी पेश की, जो अब तक पांच हजार से ज़्यादा लाइव शो कर चुके हैं।

इस प्रोग्राम में कॉर्पोरेटर सुवर्णा करंजे, एक्ट्रेस हर्षदा बामने, आई एन के सी की नेशनल सेक्रेट्री राटी जवेरी, संतोष चव्हाण भी मौजूद थे। राटी जवेरी ने सुधीर मोरे को गोल्ड पिन देकर सम्मानित किया तो वहीं FDCWC की ओर से राटी जवेरी को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया।

इस शिविर में बहुत सारे पशु प्रेमी आए। सुधीर मोरे ने बताया कि यह सिर्फ एक दिन का प्रोग्राम नहीं है बल्कि जानवरों की देखभाल के लिए यह एक अभियान है। इस शिविर में जानवरों की तस्वीरों का एक एग्जिबिशन भी लगाया गया जहां कुत्ते बिल्लियों की फोटो के साथ, उनके नाम, उनकी नस्ल और उनके बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। 

एफडीसीडब्लयूसी ने यहां ऐसे लोगों को सम्मानित भी किया जिन्होंने जानवरों की देखभाल और भलाई के क्षेत्र में कुछ काम किया है। उनमें से राजवीर सिंह भी एक रहे। इंडियन स्ट्रीट डॉग फाउंडेशन के संस्थापक राजवीर सिंह को भी एफडीसीडब्ल्यूसी द्वारा सम्मानित किया गया। वह लॉक डॉउन और कोविड महामारी के दौरान गली के कुत्तों को लगभग आठ महीने तक खाना खिलाते रहे।

Post a comment

 
Top