0

भायंदर। केंद्र सरकार द्वारा गैस सिलेंडर की कीमतों में वृद्धि के मुद्दे पर, सोमवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भायंदर फाटक के समीप एक जन आंदोलन का आयोजन किया जहाँ महिलाओं ने जमकर भाग लिया, क्योंकि यह मुद्दा महिलाओं की दैनिक बुनियादी जरूरतों से संबंधित था। मीरा भायंदर के जिलाध्यक्ष संतोष पेन्डूरकर का कहना है कि आज गैस सिलेंडर की कीमत 700 रुपये हो गई है। घर चलाने की पूरी जिम्मेदारी महिलाओं पर टिकी होती है, ऐसे में उनका विरोध करना बिल्कुल जायज है। 2020 में कोरोना जैसी महामारी के कारण बेरोजगारी में तेजी से वृद्धि हुई है और लोग मोदी सरकार की निजीकरण नीति के कारण साथ खड़े हुए हैं।  जैसे-जैसे कीमतें दिन-प्रतिदिन बढ़ रही हैं, डीजल पेट्रोल सहित आवश्यक वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं। बढ़ती महंगाई का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। 

जन आंदोलन में जिला उपाध्यक्ष सुप्रिया माईनकर, हिंदी भाषा प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष अमित सिंह ठाकुर, सामाजिक न्याय विभाग के जिला अध्यक्ष सुरेश सकपाल, सहकारी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष बाबा पठान, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ताहिर जमीनदार, ओबीसी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सुनील पंडित, विद्यार्थी सेल के जिलाध्यक्ष ओमकार धाकतोडे, शिक्षक सेल के जिला अध्यक्ष रघुनाथ महाजन, चित्रपट सेल के जिलाध्यक्ष मधुकर सोलकर, व्यापारी सेल के जिला अध्यक्ष जतिंदर सिंह मोंगा, पदवीधर संघ जिला अध्यक्ष कमलेश कांबले, प्रवीण कांबले, नितिन किनी, अशोक माने, वीरेन्द्र सिंह, प्रदेश प्रतिनिधि अल्ताफ सिद्दीकी, अंकुश मालुसरे, उमेश पाटिल, ब्लॉक अध्यक्ष प्रकाश मुरुकटे, अनंत म्हात्रे, अनिल साबले, शीतल गायकवाड़, मीडिया प्रभारी प्रेम यादव, सुनीता सालुंके, वणाजा नायडू, आशा शिंदे, रजनी वानखेड़े, पटवारी मैडम, नम्रता पवार, मनीषा सोलंकी, संगीता जगताप, संगीता ज्ञानचंदानी, जाझमा शेख के साथ-साथ युवा, छात्र और महिला नेता बड़ी संख्या में उपस्थित हुए।

Post a comment

 
Top