0

हालांकि मौजूदा समय में उत्‍सवी आयोजन, पारिवारिक भेंट-मुलाकात और देश-विदेश की यात्रा मुश्किल लग रही है, लेकिन भारत के उत्‍साही पर्यटकों के साथ अपने जुड़ाव को निरंतर बनाये रखते हुए और भारत की समृद्ध संस्‍कृति की खुशी मनाने के अपने दीर्घकालिक व्‍यवहार के अनुरूप, सिंगापुर ने अपने लिटिल इंडिया जिले को दीपावली के अवसर पर रोशनी से जगमग किया है। अंधकार पर प्रकाश के विजय के प्रतीक दीपोत्‍सव के रूप में विख्‍यात, दीपावली का यह पर्व भारतीय मूल के सबसे बड़े सांस्‍कृतिक पर्वों में से एक है और यह भारत एवं सिंगापुर के मध्‍य मज़बूत सांस्‍कृतिक संबंधों का एक परिचायक भी है। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी, उत्‍साही संस्‍कृति-प्रेमियों को लिटिल इंडिया रोशनी में जगमगाता हुआ दिखेगा, जिसकी रंगोली की सजावटें आपको बेहद लुभायेंगी और आप भारत के स्‍वादिष्‍ट व्‍यंजनों का आनंद ले सकेंगे। 

इस वर्ष की थीम 'देवी महालक्ष्‍मी' हैं, जो भारतीय पुराणों में धन-वैभव की देवी के रूप में प्रतिष्ठित हैं। सेरांगून रोड के मुख्‍य तोरण द्वार पर देवी महालक्ष्‍मी की प्रतिमा स्‍थापित है जिसमें माता लक्ष्‍मी कमल पर आसीन हैं और दो गजराज उन्‍हें जल से नहला रहे हैं। वैभव लक्ष्‍मी के चारों ओर अन्‍य सांस्‍कृतिक प्रतीक बने हुए हैं, जैसे - मोर, दीये और रंगबिरंगी डिजाइनदार रंगोली।

रोशनी की यह जगमगाहट शाम 7 बजे से शुरू होकर 6 दिसंबर, 2020 को मध्‍य रात्रि तक अपनी शोभा बिखेरती रहेगी। लिटिल इंडिया शॉपकीपर्स एंड हेरिटेज एसोसिएशंस (एलआईएसएचए) ने अन्‍य वर्षों की तरह हिंदु एंडोमेंट्स बोर्ड (एचईबी) के सहयोग से आधिकारिक रूप से इस प्रकाशोत्‍सव का आयोजन किया है।

Post a comment

 
Top