0

  रा.सा.सा.व सां.संस्था काव्यसृजन की महाराष्ट्र इकाई का पं. शिवप्रकाश के प्रयास व संस्था के पदाधिकारियों की संस्तुति पर सुनील उपाध्याय की अध्यक्षता में गठन किया गया। उनका साथ देने के लिए कार्याध्यक्ष के पद पर कु.हिना सिंह पदासीन हुई और सचिव पद पर अरुण कुमार मिश्र शोभायमान हुए। उसी उपलक्ष्य में आनलाईन गूगल मीट पर हौंसिला प्रसाद अन्वेषी की अध्यक्षता, मुख्य अतिथि कानपुर से डॉ श्रीहरि वाणी, विशिष्ठ अतिथि मुम्बई से आदरणीय डॉ रामनाथ राणा की गरिमामयी उपस्थिति व सुनील उपाध्याय जी के कुशल संचालन में गीत गजल छंद मुक्तक सवइया की बयार बही।

   आयोजन की शुरुआत कु.हिना सिंह ने शारदा स्तुति करके की। तदोपरांत कवि प्रा.अंजनी कुमार द्विवेदी, पंकज तिवारी, राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय, श्रीधर मिश्र, विनय कुमार साहू छत्तीसगढ़ से, कु.हिना सिंह, अरुण कुमार मिश्र, पं.शिवप्रकाश जौनपुरी, डॉ रामनाथ राना, डॉ श्रीहरि वाणी, अनिल कुमार राही, सौरभ दत्ता जयंत, सुनील उपाध्याय, हौंसिला प्रसाद अन्वेषी ने अपनी बेहतरीन रचनाओं और शानदार प्रस्तुति से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

मुख्य अतिथि डॉ श्रीहरि वाणी व विशिष्ठ अतिथि डॉ रामनाथ राना ने नव गठित इकाई व नव नियुक्त पदाधिकारियों को शुभकामनाएं दी और आयोजन की मुक्तकंठ से प्रशंसा की।अपने अध्यक्षीय भाषण में अन्वेषी ने सभी रचनाकारों की रचनाओं की समीक्षा करते हु नव गठित इकाई द्वरा किये प्रथम प्रयास की सराहना की। अपने सम्बोधन में उन्होनें काव्यसृजन परिवार द्वारा हिन्दी के उत्थान में किये जा रहे कार्य की सराहना करते हुए नव नियुक्त पदाधिकारियों को साधुवाद देते हुए उनका उत्साहवर्धन किया और शुभकामनाएं दी।

  अंत में संस्था के इकाई सचिव अरुण मिश्र ने सभी अतिथियों कवियों श्रोताओं का आभार व्यक्त करते हुए आगे भी इसी तरह स्नेह व सहयोग बनाये रखने की अपील की।

Post a comment

 
Top