0
घर पर रहने वाली मां या गृहणी एक फुलटाइम काम है, जिसका पैसा भी नहीं मिलता। इससे घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए परिवार की आय में कुछ जोड़ पाना मुश्किल हो जाता है। सौभाग्य से, घर पर रहने और बच्चों की देखभाल करते हुए भी पैसे कमाने के कई विकल्प हैं। आप घर से काम कर सकते हैं और अपने घर में रहकर आराम से फाइनेंशियल प्लानिंग सीख सकते हैं। इस बारे में जानकारी दे रहें हैं एंजल ब्रोकिंग के सीएमओ प्रभाकर तिवारी। 
1. अतिरिक्त पूंजी बचाने के लिए घर से काम करें: आपके लिए घर से काम करने के कई रास्ते हैं जैसे फ्रीलांस राइटिंग, होम बिजनेस और ऑनलाइन टीचिंग। फ्रीलांस राइटिंग के लिए आप यह तय कर सकती हैं कि आप अपने ब्लॉग को कैसा बनाना चाहती हैं, आप क्या लिखना चाहती हैं, किन प्रोडक्ट्स को बढ़ावा देना चाहती हैं, या आप उन एजेंसियों के संपर्क में रह सकती हैं जो पार्ट-टाइम बेसिस पर लेखकों को नियुक्त करती हैं। आप अपना होम बिजनेस भी शुरू कर सकती हैं। उदाहरण के लिए, कई गृहणियों ने हाथ से बने आभूषण, फूड सर्विसेस, रसोई के लिए आवश्यक चीजें जैसे अचार, नट बटर आदि जैसे व्यवसाय स्थापित किए हैं। आप अपने ज्ञान और विशेषज्ञता का इस्तेमाल करते हुए ऑनलाइन कोर्स भी शुरू कर सकती हैं। मासिक बजट बनाना और अनावश्यक खर्च की कटौती करना भी महत्वपूर्ण है। बचत को प्राथमिकता देना और उससे जो भी कुछ बचा है उसे खर्च करना एक आदर्श नजरिया है। इससे वित्तीय साधनों में निवेश करने के लिए एक पूंजी मिलती है। 
2. शेयर बाजार में निवेश के बारे में सीखना: घर पर रहने वाली मां के तौर पर आपको अपने आप को विभिन्न वित्तीय साधनों के बारे में, लॉन्ग टर्म निवेश के बारे में और ट्रेडिंग के बारे में जागरुक करने की आवश्यकता है। आप एक भरोसेमंद न्यूज वेबसाइट से या फाइनेंस फील्ड में भरोसेमंद दोस्तों से पर्सनल फाइनेंस के विभिन्न पहलुओं के बारे में ऑनलाइन जानकारी हासिल कर सकती हैं। इक्विटी, डेट, कैश, गोल्ड और रियल एस्टेट जैसे विभिन्न असेट क्लास और उनमें से प्रत्येक कैसे काम करता है, यह समझना महत्वपूर्ण है। इसके अलावा स्टॉक, म्यूचुअल फंड, फिक्स्ड डिपॉजिट इत्यादि जैसे टूल्स के बारे में जानें। निवेश का कदम उठाने से पहले अपने खुद के फाइनेंशियल टारगेट्स का आकलन करना और उनके अनुसार वित्तीय साधनों को चुनना महत्वपूर्ण है। इस प्रकार निवेश करने से पहले डिटेल्स जानने के लिए अपना समय निकालें, लेकिन इसे टाले नहीं। जितना जल्दी आप शुरू करेंगी, उतना अच्छा होगा और यह आपके निवेश को कंपाउंडिंग की ताकत प्रदान करेगा। 
3. घबराएं नहीं: जब आप अपनी निवेश यात्रा शुरू करते हैं, तो अच्छा टेम्परामेंट बनाना याद रखें। शेयर बाजार में बहुत अधिक अस्थिरता देखी जाती है और यह अनिश्चित स्थान की तरह लगता है। फिर भी लंबे समय में बाजार बहुत अधिक पूर्वानुमानित तरीके से व्यवहार करता है। इस वजह से अपने लक्ष्यों पर ध्यान दें और लंबे समय के लिए उनमें निवेश करें। एक इन्वेस्टमेंट चार्टर इसमें आपकी मदद करता है। आप किसी भी अस्थिरता के दौरान बिना किसी परेशानी के आगे बढ़ने के लिए विभिन्न असेट क्लास में डायवर्सिटी ला सकती हैं। उतार-चढ़ाव से बचने का एक और अच्छा विकल्प है- व्यवस्थित निवेश योजनाओं (एसआईपी) के माध्यम से निवेश करना। इससे यह सुनिश्चित होगा कि आप अपने मासिक खर्चों में उनके लिए बजट बनाती हैं, निवेश को लेकर अनुशासन बनाती हैं और लंबे समय में लाभ का आनंद लेती हैं।

Post a comment

 
Top