0

मुंबई : भारतीय सूचकांकों में एक उतार-चढ़ाव भरे ट्रेडिंग सत्र में लगातार सातवें दिन तेज़ी देखी गई। निफ्टी और सेंसेक्स दोनों आज ऊंचे स्तर पर खुले और काफी अस्थिरता देखने को मिली जो अंततः बढ़त के साथ समाप्त हुई, जहां आईटी और फार्मा ने मुनाफ़ा कमाया। निफ्टी 0.14% या 16.75 अंक चढ़कर 11,930.95 अंक पर बंद हुआ, जबकि एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 84.31 अंक या 0.21% की बढ़त के साथ 40,593.80 पर बंद हुआ।

एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के प्रमुख सलाहकार अमर देव सिंह ने बताया के आज के कारोबारी सत्र में लार्ज-कैप और मिड-कैप सेगमेंट में, लार्सन एंड टुब्रो इन्फोटेक (11.94%), इंडियाबुल्स वेंचर्स (9.42%), कोफॉर्ज (8.16%), डॉ. लाल पैथलैब्स (6.07%), और टाटा एल्क्सी (5.85%) निफ्टी में सबसे ज्यादा फायदा कमाने वालों में थे, जबकि वेदांत (20.43%), यूटीआई एसेट मैनेजमेंट कंपनी (14.04), आरती ड्रग्स (10%), रिलायंस होम फाइनेंस (9.09), और फ्यूचर रिटेल (8.94%) सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वालों में शामिल थे।

सेक्टर्स की बात करें, तो आई.टी. और फार्मा ने ग्रीन में सप्ताह पूरा किया, जबकि मीडिया, पीएसयू बैंक और रियालिटी शेयरों में बिकवाली देखी गई।

निफ्टी आईटी और फार्मा: निफ्टी आईटी के सभी 10 शेयरों में बढ़त हासिल की जिसमें एलएंडटी इंफोटेक फायदे में अग्रणी रहा। अन्य लाभ प्राप्त करने वाले शीर्ष लाभार्थियों में कोफॉर्ज (8.16%), माइंडट्री (3.86%), इंफोसिस (2.29%), और एचसीएल (1.17%) शामिल थे। फार्मा में, बायोकॉन (2.38%), ल्यूपिन (1.68%), टोरेंट फार्मा (1.47%), सिप्ला (1.31%), और डॉ. रेड्डीज़ लैबोरेट्रीज़ (1.31%) ने बढ़त हासिल की। निफ्टी फार्मा में केवल एलकेम लैब्स (0.59%) और अरबिंदो फार्मा (0.05%) के स्टॉक्स ने ही रेड में सप्ताह पूरा किया।

निफ्टी मीडिया और पीएसयू बैंक: निफ्टी मीडिया के 12 में से 9 स्टॉक्स ने रेड में सप्ताह पूरा किया। घाटा झेलने वालों में ज़ी एंटरटेनमेंट (5.34%), सन टीवी (2.27%), डिश टीवी इंडिया (2.23%) और आईनॉक्स लीज़र (1.69%) अग्रणी थे। हैथवे केबल ने 4.89% की बढ़त हासिल की जबकि जागरण प्रकाशन ने 2.34% की बढ़त हासिल की। पीएसयू बैंक में, केवल पंजाब सिंध बैंक और एसबीआई ने क्रमशः 1.4% और 0.2% की बढ़त हासिल की। आईओबी और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया अपरिवर्तित रहे।

चीन ने एशियन बाज़ार को उठाया: चीनी स्टॉक ने एशियाई बाज़ारों के लिए फायदे का नेतृत्व किया, क्योंकि निवेशकों ने दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की स्थाई रिकवरी का फायदा उठाया। हालांकि, यू.एस. की प्रोत्साहन सहायता ने दृढ़ डॉलर और सीमित युआन के साथ इन फायदों को कम किया। जापान के बाहर एपीएसी क्षेत्र में एमएससीआई का सूचकांक ज्यादा से ज्यादा 1% बढ़ा, जिससे 2-1/2-वर्ष का उच्च स्तर प्राप्त हुआ। इन फायदों को चीनी ब्लू चिप स्टॉक के साथ-साथ हैंग सेंग सूचकांक के 2% फायदे से समर्थन मिला। जापान की निक्केई ने भी 0.3% स्लिप के साथ एक-तरफा कारोबार किया क्योंकि निवेशक कॉर्पोरेट आय को लेकर चिंतित थे।

भारतीय रुपया: भारतीय रुपया शुरुआती ट्रेडिंग सत्र के दौरान डॉलर के मुकाबले मजबूती से खड़ा रहा, हालांकि, एक मजबूत डॉलर ने सत्र को 73.30 रुपये प्रति डॉलर पर पूरा किया।

Post a comment

 
Top