0

मुंबई। कोविड-19 महामारी के चलते ही भले ही दुनियाभर की ढेर सारी इंडस्ट्रीज में भूचाल आ गया हो, पर ईस्पोर्ट्स इंडस्ट्री लगातार शानदार ढंग से फल-फूल रही है। इस बीच भारत के सबसे बड़े ईस्पोर्ट्स इवेंट में शामिल ताइवान एक्सीलेंस गेमिंग कप (टीईजीसी) अपने सातवें संस्करण के साथ वापस आ गया है। इस बार यह न्यू नॉर्मल के

तमाम नियम-कायदों का पालन करते हुए एक अनूठे वर्चुअल फॉर्मेट में है, फिर भी वैसा ही रोमांचक होने का भरोसा दिलाता है!

नए अवतार के बावजूद इस साल के इनोवेटिव फॉर्मेट में बिल्कुल वैसा ही जोशो-खरोश नजर आएगा। प्रशंसकों के जमावड़े और रेफरीज की निगरानी के बीच एक हलचल भरे अखाड़े में विरोधियों से जूझने के बजाय, गेमर्स ऑनलाइन-ऑनली एडिशन में एक-दूसरे के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करेंगे, जहां टीमें हिस्सा लेंगी और दूर बैठकर इंटरैक्ट करेंगी।

क्वालीफायर 1: 29 अक्टूबर से 1 नवंबर तक

क्वालीफायर 2: 5 नवंबर से 8 नवंबर तक

क्वालीफायर 3: 19 नवंबर से 22 नवंबर तक

क्वालीफायर 4: 26 नवंबर से 29 नवंबर तक

ग्रैंड फिनाले: 12 और 13 दिसंबर

सीएस:जीओ और सीओसी का ग्रैंडफिनाले ताइवान एक्सीलेंस इंडिया के आधिकारिक चैनलों पर ऑनलाइन प्रसारित किया जाएगा।

दुनिया भर में सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों के चलते कंज्यूमर और बिजनेस गतिविधियां बेहद कम हो गई हैं। ऐसे में, घर बैठे जो लोग सोशल इंटरैक्शन की तलाश में हैं, उनके लिए गेमिंग एक आकर्षक जुनून और लोकप्रिय पसंद बन चुकी है। रिपोर्ट्स के अनुसार, 2020 के ग्लोबल गेम्स मार्केट ने +9.3% की मजबूत सालाना वृद्धि के साथ 159.3 बिलियन डॉलर का रेवेन्यू जुटाया है। कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन के नतीजतन सभी गेम सैगमेंट्स में जुड़ाव और रेवेन्यू में बढ़ोतरी देखी गई है।

इस माहौल में, टीईजीसी इस साल के वर्चुअल एडिशन के जरिए गेमिंग के दीवानों के लिए जबरदस्त जोश लाने का वादा करता है। सभी क्वालीफायर ऑनलाइन आयोजित किए जाएंगे और हर क्वालीफायर की विजेता टीम जोश और जुनून से भरे फाइनल राउंड में मुकाबला करेगी। यह राउंड भी ऑनलाइन आयोजित होगा। टीईजीसी का सीजन 7 भारत भर के महत्वाकांक्षी गेमर्स को एलिमिनेशन राउंड्स में हिस्सा लेने का मौका देगा। क्वालीफायर राउंड 29 अक्टूबर से शुरू होकर 29 नवंबर तक चलेंगे। ग्रैंड फिनाले 12 और 13 दिसंबर को होगा। गेमर्स तीन गेम्स काउंटर-स्ट्राइक में भिड़ेंगे: ग्लोबल ऑफेंसिव (सीएस : जीओ), क्लैश ऑफ क्लैन्स (सीओसी) और रेनबो 6 सीज (आर6), जिसमें 10 लाख रुपए के भारी-भरकम पुरस्कार हैं। इस इवेंट के लिए रजिस्ट्रेशन 18 अक्टूबर से शुरू हो गया है।

सीएस : जीओ और सीओसी का ग्रैंड फिनाले ताइवान एक्सीलेंस इंडिया के आधिकारिक चैनलों पर ऑनलाइन प्रसारित किया जाएगा।

इस साल टीईजीसी कुछ बेहतरीन अवॉर्ड-विजेता ताइवानी ब्रांड्स, जैसे कि एऑरस, एपेसर, एवरमीडिया, डी-लिंक, इन-विन, एमएसआई, ऑप्टोमा, प्रीडेटर, रिपब्लिक ऑफ गेमर्स, सिलिकॉन पावर, टीम ग्रुप, थर्मलटेक, ट्रांसेंड, एक्सपीजी और ज़ोवी के सहयोग से संचालित होगा।

पिछले सात वर्षों में भारत में टीईजीसी देश के सबसे लंबे समय तक चलने वाले गेमिंग टूर्नामेंट्स में से एक बन गया है। इसे स्किल और मस्ती की हैरतअंगेज प्रदर्शनी में देश भर के बेहतरीन लोगों को इकट्‌ठा करने वाले प्लेटफॉर्म के रूप में देखा जाता है। यहां प्लेयर्स और फैन्स एक ओपन फॉर्मेट में प्रतिस्पर्धी भावना का सम्मान करने और चैंपियन तय करने के लिए जुटते हैं। यह महज गेमिंग टूर्नामेंट से आगे बढ़कर एक इमोशन में बदल चुका है, जहां गेमर्स को अत्याधुनिक गेमिंग टेक्नीक का अनुभव लेने और सबसे ज्यादा पेशेवर स्तर पर खेलने का मौका मिलता है।

पिछले साल तक टीईजीसी गेमर्स के लिए अलग-अलग शहरों और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले, लेकिन गेमिंग को लेकर साझा जुनून से भरे लोगों से मिलने-जुलने और बातचीत करने के अनूठे अवसर तैयार करता था। बहरहाल, इस साल ऑनलाइन एडिशन के चलते चीजें अलग हैं।

वर्चुअल फॉर्मेट अपने साथ कुछ चुनौतियां भी ला सकता है। लेकिन टीईजीसी टीम ने गेमिंग के अखाड़े में मौजूद होने के अहसास को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत करके नए टूल्स बनाए हैं, जो जोश और रोमांच का स्तर ऊंचा बनाए रख सकते हैं। दरअसल, टीईजीसी ने वर्चुअल फॉर्मेट को इस तरह से अपनाया है कि वह इसके डिजिटल-फर्स्ट नेचर को उभारता है। हर कोई साफ-सुथरे और उचित ढंग से खेले, इसके लिए कुछ जरूरी बदलाव भी किए गए हैं।

बहरहाल, इस सब के बीच जो चीज नहीं बदली है वह है गेमिंग का असली मिजाज। टीमें हों या फैन्स, हर कोई अनिश्चितता के दौर से गुजरा है और हालात लगातार बदल रहे हैं। यही वजह है कि टीईजीसी रोमांच की पेशकश करते हुए जिंदगी में फिर से जोश जगाने के लिए बिल्कुल तैयार है।

इस साल टूर्नामेंट के नए फॉर्मेट के बारे में टैट्रा (TAITRA) के प्रेसिडेंट और सीईओ, लियोनोर एफ.एम. लिन ने कहा कि,“यह साल हम सभी के लिए चुनौती भरा है। बहुत सारे उतार-चढ़ाव आए हैं, लेकिन हम सभी न्यू नॉर्मल के अनुकूल होना सीख गए हैं और लचीले बनकर उभरे हैं। टीईजीसी इस वर्ष एक वर्चुअल फॉर्मेट में वापस आ गया है, जिसका मतलब है कि अब हमारे पास गेमर्स, शहरों, दर्शकों और प्रशंसकों के लिहाज से कहीं ज्यादा व्यापक पहुंच होगी। हम उम्मीद करते हैं कि इस अनूठी परिस्थिति का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाकर हम ढेर सारे नए फैन्स और यूजर्स जोड़ पाएंगे। डिजिटल दुनिया में अब पहले से कहीं ज्यादा लोग हैं और टीईजीसी उन्हें अपने पाले में लाने के लिए पूरी तरह तैयार है। चूंकि हम हमेशा से ही अपनी अत्याधुनिक तकनीक के लिए जाने जाते हैं, इसलिए हम वर्चुअल फॉर्मेट की दिक्कतों से दूर ही हैं। लेकिन हम इस साल के ऑनलाइन एडिशन को लेकर बेहद उत्साहित हैं। टीईजीसी हर साल की तरह ही अपने मिजाज को कायम रखेगा, जहां गेमिंग के दीवाने सिर्फ मुकाबला नहीं करते, बल्कि सीखते हैं और अंतरराष्ट्रीय स्तर के गेमिंग का कुछ ऐसा अनुभव करते हैं।

अधिक जानकारी के लिए देखें: http://tegamingcup.in/

Post a comment

 
Top