0

मुंबई : ओरिएंट ट्रेडलिंक लिमिटेड (ओटीएल) ने ज़ी ग्रुप के साथ भारत के छोटे पर्दे पर सबसे अधिक पसंद किए जानेवाले और देखे जाने वाले धारावाहिकों में से एक साईं बाबा पर बने धारावाहिक 'साई भक्तों की सच्ची कहानियां' के लिए एक साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। जिसके तहत इसका प्रसारण रविवार 30 अगस्त 2020 को शुरू हुआ है, जो कि ज़ी अमेरिका में प्रत्येक रविवार को सुबह 8:30 बजे और ज़ी कनाडा में शाम 7:30 बजे हो रहा है। यह पहली बार है कि किसी भी वास्तविक जीवन की घटनाओं और अनुभवों पर आधारित कोई भी सामग्री, जिसने कई लोगों के जीवन को बदल दिया है, एक विदेशी धरती पर दिखाया जा रहा है। इसके निर्माता आशिम खेत्रपाल और निर्देशक अमोल सुर्वे हैं।
 'साई भक्तों की सच्ची कहानियां' ओरिएंट ट्रेडलिंक लिमिटेड का सुपर हिट प्रोग्राम है। जो कि भारत में लगभग सभी प्रमुख चैनलो पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला कार्यक्रम है। 'साई भक्तों की सच्ची कहानियां', साईं भक्तों द्वारा भेजी गई सच्ची कहानियों पर आधारित है। ये कई साईं भक्तों द्वारा महसूस और अनुभव की जा रही घटनाएं हैं, जिसे धारावाहिक के रूप में दिखाया गया है।                                    निर्माता आशिम खेत्रपाल कहते हैं,"जो भी नास्तिक होते हैं, वे अंत में सभी आस्तिक हो जाते हैं। जब लोगों ने अपने चारों ओर बाबा की कृपा और उपस्थिति महसूस करना शुरू किया, तो उन्होंने कहानियों के रूप में अपना अनुभव भेजना शुरू कर दिया। फिर चयनित कहानियों पर एक कार्यक्रम बनाने का निर्णय लिया गया और फिर ओटीएल ने इस कार्यक्रम के अधिकार खरीदे और उसी की मार्केटिंग शुरू की। कार्यक्रम कोअरबों लोगों द्वारा देखा और पसंद किया गया और यह चैनलों की टीआरपी और साईं भक्तों से मिली प्रतिक्रिया से स्पष्ट था।
ओटीएल अब तक श्री शिरडी साईं बाबा से संबंधित तथा आधारित कई कार्यक्रमों के विपणन अधिकार हासिल कर चुका है। ज़ी ग्रुप के साथ यह पहली डील है। निर्माता के यू ट्यूब चैनल "आशिम खेत्रपाल के साथ साईं की महिमा" कार्यक्रम भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हिट हो गया है, ओटीएल आगे इस सामग्री को दुनिया भर में विशेष रूप से बाजार में लाने की योजना बना रहा है।
 'साई भक्तों की सच्ची कहानियां' के कुल 52 एपिसोड का प्रसारण होगा। इसमें सुधीर दलवी, विक्रम गोखले,आशिम खेत्रपाल, दिव्या दत्ता जैसे सौ से ज्यादा टीवी इंडस्ट्री के दिग्गज कलाकारों ने अभिनय किया है। इसके लेखक विकास कपूर हैं और इसमें संगीत स्वर्गीय रविन्द्र जैन का है।

Post a comment

 
Top