0

मुंबई : पिछले हफ्ते स्पॉट गोल्ड की कीमतें 0.2 फीसदी तक कम हो गईं, क्योंकि यूएस डॉलर के फ़िर सुधरने से इस सुरक्षित पीली धातु पर बुरा असर पड़ा है। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के रिसर्च नॉन एग्री कमोडिटी एंड करेंसी एवीपी प्रथमेश माल्या ने बताया, केयूरोज़ोन में रिकवरी रुकने और अमेरिकी नीति निर्माताओं ने इस महामारी के हालातों पर जो व्यापक चिंता जताई है, उसके बावजूद सोने की कीमतों में लगातार दूसरे हफ़्ते भी कमी आई है।
28 और 29 जुलाई 2020 को हुई पॉलिसी मीटिंग में यूएस फेडरल रिज़र्व ने बताया कि इसकी रिकवरी की राह काफ़ी मुश्किल है। सोने की कीमतों में कमी को नीति निर्मातओं द्वारा उठाए गए मुद्दों से सीमित हो गई, जिसमें उन्होंने यूएस फेडरल रिज़र्व के समर्थन से अतिरिक्त प्रोत्साहन की ज़रूरत पर बात की। 15 अगस्त 2020 को खत्म हुए सप्ताह में यूएस में एक मिलियन से ज़्यादा लोगों द्वारा बेरोजगारी का दावा करने से भी सोने की कीमतों को और समर्थन मिला है।
कच्चा तेल: यूएस इंवेंट्रीज़ के बंद होने की वजह से डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमतो में पिछले हफ़्ते के अंत तक 0.8 का चढ़ाव आया। कच्चे तेल की कीमतों को चीन की बढ़ती मांग की वजह से भी मजबूती मिली। चीन की सरकारी तेल कंपनियों ने अगस्त से सितंबर 2020 तक के लिए टैंकरों की बुकिंग कर ली है, जिसमें लगभग 20 मिलियन बैरल यूएस कच्चा तेल होगा, जैसा कि यूएस आॅयल ट्रेडर्स, शिपब्रोकर्स, और चीनी आयातकों का कहना है।
कोविड-19 में फ़िर से तेजी आने की वजह से, कच्चे तेल के आउटलुक को कम कर दिया गया था, जिससे तेल बाजार और भी धीमा हो गया था। इस महामारी की वजह से कमज़ोर हुए मैक्सिको में आधे से अधिक तेल उत्पादनों के बंद हो जाने के कारण कच्चे तेल की कीमतों को समर्थन मिल सकता है।
बेस मेटल्स: एलएमई बेस मेटल्स की कीमतों के लिए पिछला हफ़्ता अच्छी खबर के साथ पूरा हुआ और ज़िंक को सबसे ज़्यादा फ़ायदा हुआ। यूएस और चीन के संबंधों की स्थिति सहज होने और चीन की अर्थव्यवस्था के दृढ़ विकास से जुड़ी प्रत्याशाओं की वजह से औद्योगिक धातुओं की कीमतों में बढ़ोत्तरी बनी रह सकती है। जुलाई 2020 में सबसे बड़े धातु उपभोक्ता की अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत मिले, जो कि चीन द्वारा आॅटो बिक्री में वृद्धि और फैक्ट्री की मजबूत गतिविधियों की वजह से हुआ था।
तांबा: एलएमई पर घटती इंवेंट्रीज़ की वजह से तांबे की कीमतें और अधिक बढ़ गई हैं। एलएमई तांबे की कीमतें 2 फीसदी तक बढ़ गईं। वायरस संक्रमण के फ़िर तेज़ होने ने अपट्रेंड को सीमित कर दिया और वैश्विक आर्थिक स्थितियों पर फ़िर बादल छा गए। कॉपर इंवेंट्रीज़ में आई गिरावट की वजह से एलएमई सत्यापित गोदाम इस लाल धातु की कीमतों का समर्थन कर सकते हैं।

Post a comment

 
Top