0

हजारीबाग। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की अचानक हुई मौत ने सभी को हैरान कर दिया है. जिससे बॉलीवुड में भूचाल सा आ गया है एक के बाद एक बॉलीवुड इंडस्ट्री में न्यूकमर और आउटसाइडर के साथ भेदभाव की दबी हुई आवाज उठ रही है. कंगना रनौत, रवीना टंडन, सोनू निगम के बाद अब इस मामले में सबरंग फिल्म से बॉलीवुड में निर्देशक के तौर पर डेब्यू करने वाले हजारीबाग के युवा फिल्म निर्देशक निरंजन भारती ने प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर सुशांत सिंह राजपूत के निधन को लेकर सीबीआई जांच की मांग किया है.
 भारती ने कहा की एक कलाकार जब छोटे शहरों से निकलकर बड़े शहरों में जाते हैं, तो हमें विभिन्न प्रकार की परेशानियों के साथ लड़ना पड़ता है. शुरुआती दौर में हमें तो कहीं खड़ा तक नहीं किया जाता है. बावजूद हम गिरते, पड़ते, लड़खड़ाते हुए उठते हैं, फिर चलते हैं. और बिना किसी गॉडफादर के जब हम एक मुकाम हासिल करने की और होते हैं हमें तरजीह नहीं दी जाती है और आज इसी का शिकार सुशांत सिंह राजपूत को होना पड़ा है. सुशांत ने 34 साल की उम्र में फिल्मी गैंग माफियाओं के साथ लड़ते - लड़ते दुनिया को अलविदा कह दिया.
 गौरतलब है कि 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पिछले 6 महीने से सुशांत डिप्रेशन का इलाज करा रहे थे. सुशांत के डिप्रेशन का कारण बॉलीवुड इंडस्ट्री में वर्षों से चलता आ रहा नेपोटिज्म है. जिसके बाद से उनके फैंस और बॉलीवुड के कुछ लोग इस मुद्दे पर जमकर अपनी आवाज उठा रहे हैं. भारती ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.
भारती ने कहा कि केंद्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार सुशांत की  मौत की जांच सीबीआई को दे, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके. भारती ने कहा कि जब तक इस मौत की जांच उच्च स्तरीय नहीं होगी, कई सवालों के जवाब नहीं मिल पाएंगे. सुशांत सिंह राजपूत ने अपनी मौत के पीछे कई अनकहे पहलू छोड़ गए हैं, उसको जानना जरूरी है. कई ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब मिलना जरूरी है. जरूरी यह है कि इस मौत की जांच सीबीआई से हो.

Post a comment

 
Top