0
मुंबई : भारतीय शेयर बाजारों में सोमवार को एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स और निफ्टी-50 में 3% से अधिक की गिरावट दर्ज की गई। 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1076.97 अंक या 3.46% की गिरावट के साथ कारोबारी सत्र के अंत में 30,020.76 अंक पर था। 50 शेयरों वाला निफ्टी भी इसी रेंज में गिरकर 313.60 अंक या 3.43% की गिरावट के साथ 8823.25 अंक पर बंद हुआ।
सरकार ने पिछले सप्ताह अर्थव्यवस्था की रिकवरी के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के वित्तीय प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की थी, और तब से ही शेयर बाजार लाल रंग में हैं। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के सलाहकार अमर देव सिंह ने कहा कि यह सरकार द्वारा घोषित उपायों पर निवेशकों के निगेटिव सेंटिंमेंट के संकेत है।
शेयर बाजारों में जारी निगेटिव सेंटिमेंट का एक और कारण सरकार द्वारा देशव्यापी लॉकडाउन का विस्तार है जो 25 मार्च को पहली बार घोषित किए जाने के बाद से चौथे चरण में प्रवेश कर चुका है। एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, मारुति, और बजाज फाइनेंस दिन के प्रमुख लूजर्स थे।
हर मौसम के लिए शानदार स्टॉक आरआईएल ने जनरल अटलांटिक डील के साथ एक बड़ी वापसी की जिसने उसे पिछले कारोबारी दिवस से शेयर का लाभ 2% के करीब बना दिया। कंपनी ने ग्लोबल इक्विटी एंटरप्राइज जनरल अटलांटिक को अपनी डिजिटल यूनिट की 1.34% हिस्सेदारी 6,598.38 करोड़ में बेचने की घोषणा की। हालांकि, स्टॉक 21.25 रुपए या 1.46% की गिरावट के साथ 1,438.15 रुपये पर बंद हुआ।
बैंकिंग स्टॉक्स की हुई सबसे ज्यादा पिटाई:
अधिकांश सेक्टोरल इंडेक्स ने दिन के कारोबार में नुकसान दर्ज किया, बैंकिंग सेक्टर के शेयरों में गिरावट की सेंसेक्स के नीचे आने में हिस्सेदारी सबसे ज्यादा रही। अगले 12 महीनों के लिए इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत नए इनसॉल्वेंसी केस दर्ज करने के सरकार के फैसले के बाद बैंकिंग शेयरों ने अपनी एसेट क्वॉलिटी को लेकर चिंता जताई जिससे निवेशकों में बिकवाली का दबाव देखा। निजी क्षेत्र के ऋणदाता एचडीएफसी बैंक के मूल्य में 5.56 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई, जबकि हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन के मूल्य में 7.42 प्रतिशत की कमी रही। अन्य बैंक जो आज दबाव में थे, उनमें एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक शामिल थे, जिनमें 3% से 7% तक की गिरावट थी।

Post a comment

 
Top