0




एक गंभीर विषय पर आधारित फ़िल्म अनफ़्रेंड्स का‌ ट्रेलर 12 नवंबर,‌ 2019 को मुम्बई के सहारा स्टार होटल के लाइनक्राफ़्ट में लॉन्च किया गया.
एज़ाज ख़ान,‌ सुनील पाल, अली ख़ान,‌ जावेद हैदर, मुश्ताक़ ख़ान,‌ भारत फ़िल्म फ़ेम अभिषेक ख़ाना,‌ सुफ़ियान कापड़िया,‌ कॉमेडियन रोहित प्यारे और एहसान‌ ख़ान जैसी हस्तियों ने लॉन्च के मौके पर अपनी मौजूदगी से समां बांध दिया.
साइबर और सोशल मीडिया के ज़रिए होनेवाले अपराधों पर आधारित फ़िल्म 'अनफ़्रेंड्स' का निर्माण मौसमी बिश्वास और रियांगस एंटरटेनमेंट वर्ल्ड के बैनर तले इसके सह निर्माता इब्राहिम शेख हैं जबकि अशफ़ाक़ शेख ने इस फिल्म को निर्देशित किया है. फ़िल्म में मुख्य भूमिकाओं में मौसमी बिस्वास, साहिल अख़्तर ख़ान, रजत रवैल, नफ़े ख़ान, हिम्मत अली, अयान ख़ान और प्रशांत पुजारी नज़र आएंगे.
अनफ़्रेंड्स एक ऐसी लड़की की कहानी है, जिसकी दोस्ती सोशल मीडिया पर एक‌ ऐसे लड़के से दोस्ती हो जाती है, जो बेहद हिंसक है. इसके बाद एक लड़का आगे आकर साइबर क्राइम और रेप की मानसिकता के ख़िलाफ़ लड़ने‌ में उसकी मदद करता है. इसमें यह भी दिखाया गया है कि इसके बाद दोनों ही राजनीतिक रूप से ताक़तवर और क़ानून को नियंत्रित करने वाले लोगों की साज़िशों से कैसे ख़ुद को बचाते हैं. एक ऐसी दुनिया जो सामाजिक और साइबर अपराधों से पटी पड़ी है, वहां एक शख़्स ऐसा भी है, जो इस तरह के अस्थिर माहौल में डटकर बुराइयों के खिलाफ़ खड़ा होता है. 
वीर नामक एक लड़के को विजय नामक अनजान शख़्स से सोशल मीडिया पर एक फ़्रेंड रिक्वेस्ट प्राप्त होती है. वीर स्टार्ट-अप के लिए इकट्ठे किये जाने वाले पैसों को लेकर काफ़ी संघर्षरत होता है. ऐसे में वीर की कहानी सुनकर विजय उसके स्टार्ट-अप में निवेश करता है और इसका जश्न मनाने के लिए एक लॉन्ग ड्राइव पर लोनावाला जाते हैं. इस दौरान दोनों की मुलाक़ात मौली नामक लड़की से होती है, जो एक बिंदास और बोल्ड लड़की है. इस बीच, विजय अपना आपा खो बैठता है और मौली का रेप कर देता है. वीर रेप पीड़िता मौली की जान बचाने में कामयाब हो जाता है और वहां से बच निकलने में कामयाब हो जाता है. बाद में पता चलता है कि विजय एक ताक़तवर मंत्री का बेटा है. मामले में राजनीतिक मोड़ आ जाने के बाद मौली को ज़लील होने से बचाने और उसे न्याय दिलाने के लिए वीर को अपने करियर की तिलांजलि देनी पड़ती है. 
अनफ़्रेंड्स की कहानी में बताया गया है कि किस तरह से सोशल नेटवर्किंग ख़तरनाक साबित हो सकता है. इसमें यह भी बताया गया है कि किस तरह से हमारा समाज रेप पीड़िता के प्रति हमदर्दी जताने और उसे अपनाने की बजाय उसे धुतकारने में यकीन रखता है. ग़ौरतलब है कि अगर बाक़ी लोग भी वीर की तरह सोचने‌ लग जाएं और लड़कियों से संबंधित पुरानी बातों को भूल जाएं, तो रेप से पीड़ित लड़कियों को भी सम्मान के साथ जीने का हक़ हासिल हो जाएगा.
ट्रेलर लॉन्च के मौके पर मौसमी‌ बिश्वास ने कहा कि मैं इस फ़िल्म को लेकर काफ़ी उत्साहित हूं. इस फ़िल्म की कहानी लोगों की आंखें खोल देगी. इस फ़िल्म में दिखाया गया है कि हर सिक्के के दो पहलू होते हैं और हमें हमेशा दोनों पहलुओं पर ग़ौर करना चाहिए. रेप का शिकार होनेवाली महिलाओं पर तोहमतें लगाने का सिलसिला बंद होना चाहिए. यह पीड़िता की ग़लती नहीं होती है कि वह रेप का शिकार हो जाती है. दोषियों को सलाखों के पीछे होना चाहिए और क़ानून को ऐसे लोगों के साथ कड़ाई से पेश आना चाहिए. एक ज़िम्मेदार नागरिक होने‌ के नाते हमारा फ़र्ज़ बनता है कि हम रेप की पीड़िताओं को लेकर लोगों के नज़रिए में बदलाव लाने की हरसंभव कोशिश करें.अनफ़्रेंड्स 13 दिसंबर, 2019 को देशभर में प्रदर्शित होगी.

Post a comment

 
Top