0

मुंबई: जेएसडब्ल्यू एनर्जी लिमिटेड ने 30 सितम्बर 2019 को समाप्त हुए वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के आर्थिक परिणामों की घोषणा की। कंपनी के जारी किये गए आंकड़ों के मुताबिक कंपनी ने चालू वर्ष की दूसरी तिमाही में 353 करोड़ का लाभ कमाया, यही लाभ पिछले वर्ष की तिमाही में 316 करोड़ रूपये का लाभ दर्ज किया था। कुल मिलाकर इस वर्ष का लाभ 23 करोड़ रूपये का था जबकि पिछली तिमाही में यह राशि 651 करोड़ रूपये की थी। मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्तीय परिणाम घोषणा करते हुए प्रशांत जैन (जेएसडब्ल्यू एनर्जी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी) ने कहा।
इस तिमाही में कंपनी का कुल राजस्व पिछले वर्ष की तुलना में गिरावट लिए हुए था और पिछले वर्ष की तुलना में इसमें 13 प्रतिशत की गिरावट आयी जो 2568 करोड़ रूपये से घटकर 2232 करोड़ रूपये हो गयी। यह गिरावट ईंधन के मूल्यों में आयी गिरावट के कारण हुयी। इस तिमाही में ईंधन की कीमत पिछले वर्ष की तिमाही की तुलना में 26 प्रतिशत होकर 983 करोड़ रूपये हो गयी जो आयातित कोयले की कीमतों में आयी कमी के कारण हुयी। इस तिमाही में कंपनी का 'ईबीआईटीडीए' में वृद्धि हुई जो बढ़कर 1048 करोड़ रूपये हो गयी। पिछले वर्ष यह राशि 998 करोड़ रूपये की थी।
इसके साथ ही का आर्थिक मूल्य इस तिमाही में घटकर पिछले वर्ष के 308 करोड़ रूपये से घटकर 272 करोड़ रूपये हो गया। इस गिरावट का कारण कर्ज वापसी/समयावधि पूर्व कर्ज की वापसी रही है। कंपनी का वित्तीय मूल्य और कुल कर्ज 30, सितम्बर 2019 को समाप्त हुए तिमाही में क्रमशः 11756 करोड़ रूपये और 9702 करोड़ रूपये था।  
कंपनी ने इस तिमाही में जीएमआर कामालंगा एनर्जी लिमिटेड के अधिग्रहण के सम्बन्ध में  बातचीत की शुरू की है। जीएमआर का ओडिशा में 1050 मेगावाट का सौर बिजली का संयंत्र कार्यरत है। कम्पनी ने स्वयं कर्ज को समय पर चुकाकर और समयावधि के पूर्व वापसी कर अपने राजस्व को अधिक मजबूत किया है। इस माध्यम से विकास की पूरे आसार नजर आ रहे हैं।

Post a comment

 
Top