0



     निर्माता निखिल द्विवेदी द्वारा निर्मित धारावाहिक 'श्रीमद् भागवत महापुराण' 2 जून 2019 से कलर्स चैनल पर प्रत्येक रविवार को सुबह 11 बजे प्रसारित होगा। धारावाहिक के निर्देशक कमल मूंगा हैं एवं इसकी कहानीस्क्रीनप्ले व डायलॉग विकास कपूर ने लिखे हैं,जोकि इससे पहले ५ हज़ार घंटे से ज्यादा विभिन्न सीरियलों और फिल्मों का लेखन कर चुके हैं। शिरडी साईबाबा फ़िल्म के लिये राष्ट्रपति पुरस्कार पा चुके विकास कपूर ने 'ॐ नमः शिवाय',' श्री गणेश', 'शोभा सोमनाथ की', 'जय संतोषी माँ',' जप तप व्रत' 'मन में है विश्वास','साई भक्तों की सच्ची कहानियांआदि धार्मिक सीरियलों का लेखन किया हैतभी उन्हें 'महागुरुऔर 'भगवान के अपने लेखककहा जाता है। श्रीमद्भागवत धारावाहिक के बारे में विकास कपूर कहते हैं,"मैं शुरु से सभी तरह की धार्मिक पुस्तकग्रन्थगीतावेदक़ुरानबाइबल इत्यादि सबकुछ पढ़ता थायुवावस्था से पौराणिक कथाओं के रहस्यो को उजागर करना मेरा प्रिय कार्य थाकानपुर के कई अखबारों में मेरे लेख छपा करते थेएक बार मैंने कानपुर के प्रसिद्ध 'पंडित दीनदयाल विद्यालयके रजत जयंती समारोह में पंडित ॐ शंकर द्वारा लिखित हिंदी नाटक 'युग पुरुषका निर्देशन किया थाजहाँ पर नितीश भरद्वाज बतौर अतिथि आये थेजो उन दिनों दूरदर्शन के लिये गीता रहस्य बना रहे थेउनके आग्रह पर मैं मुम्बई आ गयाधीरे धीरे लोग मिलते गए और कारवां यहाँ तक पहुँच गया।   
  धारावाहिक 'श्रीमद् भागवत महापुराणके बारे में लेखक विकास कपूर कहते हैं," इसमें आम जनता के मन में उठने वालों सभी सवालों का प्रतिनिधित्व राधा करेंगी और उनका उत्तर श्री कृष्णा देंगे। मेरे गहन रिसर्च का इसमें समावेश किया गया है। भागवत के भीतर बहुत कुछ ऐसा है जो गुगल बाबा भी नहीं जानता है। इसमें ऐसे कई प्रश्नों के उत्तर हैजो आजतक दिखाये बताये नहीं गए। जैसे कि पार्वती द्वारा निर्मित श्रीगणेश जी का जो सिर शंकरजी ने त्रिशूल से काटा थावह अब कहा हैशंकर जी की 11 मुंडों की माला में मुंड किसके हैराधा और कृष्णा का विवाह क्यों नहीं हुआश्री राम ने सीता का त्याग क्यों कियाऐसे कई अनछुए पहलुओं को इस शो में दिखाया गया है। जिसके लिए निखिल द्विवेदी एवं प्रदीप कुमार धूतजी का बहुत सहयोग मिलातभी यह सम्भव हो पाया।
  अपनी बुक कुण्डलनी जागरण के बारे में विकास कहते हैं कि यह काफी पसंद की जा रही है। कुण्डलनी जागरण सात चक्रों का रहस्य हैजो कि योगशास्त्र के योग गुरु पतंजलि ने विस्तार से लिखा था। लेकिन उस समय की परिस्थिति और साधन अलग थे और अब अलग है। साहित्यकार शरद पगारे ने कपूर की बुक पढ़ने के बाद लिखा पतंजलि का योगशास्त्र तो पहले भी पढ़ा था लेकिन आज तुम्हारी बुक पढ़ने के बाद यह गुढ़ विद्या सरलता से समझ में आई। विकास कहते हैं - सातों चक्रों का जागरण कठिन साधना है परन्तु गौतम बुद्ध और गुरु नानक देव के सभी चक्र जाग्रत थेवर्तमान में मुझे अभास होता है कि श्री नरेंद्र मोदी के कई चक्र जागृत है क्योंकि इतनी मेहनत करने के बाद भी वे थकते नहींउनमें ऊर्जा बनी रहती है।   
  वैसे विकास कपूर का शो 'अचानक उस रोज़'को 'दंगल टीवीचैनल पर काफी पसंद किया जा रहा है। इसके अलावा भारत की शारीरिक रूप से विकलांग क्रिकेट टीम के क्रिकेटरों के जीवन की सच्चाई और संघर्ष पर बन रही हिंदी फीचर फिल्म 'जज़्बा - योर वीकनेस इस योर स्ट्रेंथका निर्देशन भी विकास कपूर कर रहे हैं जिसका असीम खेत्रपाल निर्माण कर रहे हैं।

Post a comment

 
Top