1




 कोच ऋषि सरोडे और 12 बच्चों द्वारा अपनी तरह की पहली उपलब्धि हासिल की गई

 रोल मॉडल स्केटर्स और एम्पल मिशन ने साथ मिलकर यहाँ मुंबई में 22 दिसंबर 2018 को एक नया विश्व कीर्तिमान बनाया है । इस स्केटिंग रिकॉर्ड के दो भाग थे - जिसमें 11 बच्चे बास्केटबॉल को ड्रिब्ल करते हुए ज़िगज़ैग रोलर स्केटिंग कर रहे थे जबकि एक बच्चा "जश सरोडे" आँखों पर पट्टी बांधे हुए हुला हूप के साथ इनलाइन स्केटिंग कर रहा था - इसके साथ वह स्केटिंग में ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाला अब तक का पहला बच्चा बन गया है।
ऋषि सरोदे - संस्थापक और निदेशक, रोल मॉडल स्केटर्स, पिछले 34 वर्षों से स्केटिंग कर रहे हैं और कई विश्व रिकॉर्ड बनाकर अनेकों बार भारत का प्रतिनिधित्व किया है ।
 ऋषि सरोडे का मानना है कि सीखना एक निरंतर चलनेवाली प्रक्रिया है और वे अपने छात्रों में अपने सिद्धांतों और तथ्यों को उनके मन में स्थापित करने को लेकर बेहद उत्साही हैं। एक साधारण से परिवार से आये ऋषि ने इस अवसर पर कहा, “मुझे बहुत गर्व और ख़ुशी है कि मेरे छात्रों ने आज वह हासिल कर लिया है जो अब तक किसी और ने नहीं किया था, और मुझे ख़ुशी इसीलिए भी है कि मैं जानता हूँ कि इन छोटे-छोटे बच्चों को जितने समर्पण और जुनून के साथ मेहनत करनी पड़ी थी उसका इनाम अंततः इनको मिल गया है। ऋषि के अनुसार आज माता-पिता को खेलकूद और स्केटिंग के महत्व का एहसास हो गया है और इसका नतीजा यह है कि केवल ऋषि ने ही हजारों छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान किया है , चाहे बड़ी हस्तियाँ हों, नेता हों, या सरकारी बाबू हों या आम आदमी हो।
  सामाजिक उद्देश्यों में अपना अमूल्य योगदान प्रदान करने वाली संस्था एम्पल मिशन के संस्थापक डॉ. अनिल काशी मुरारका बच्चों के द्वारा यह रिकॉर्ड बनाये जाने पर कहते हैं कि मैं इन बच्चों को यह कीर्तिमान बनाते हुए देखकर इतना गौरवान्वित और भावुक महसूस कर रहा हूँ , इससे हमें और बहुत कुछ करने और उन बहुत सारे बच्चों तक पहुँच सकने के लिए निरंतर शक्ति और प्रेरणा मिल रही है जिन्हें खेलकूद में सहायता की ज़रूरत है।
22 दिसंबर 2018 को यह वर्ल्ड रिकॉर्ड पवई में रिकॉर्ड अधिकारियों, स्कूल के प्रिंसिपलों बच्चों के माता-पिता और बहुत सारे समर्थकों के बीच बनाया गया है जो बच्चों का उत्साह बढ़ाने के लिए मौजूद थे। इस रिकॉर्ड में भाग लेने वाले बच्चों में जश सरोदे ( 9 साल ) , अद्वैत सालस्कर ( 8 साल ) , दुर्वा ठक्कर ( 5 साल ) , आर्यन शुक्ला ( 5 साल 11 महीने ) , वेदांत गुप्ता ( 8 साल 03 महीने ) , स्वरूप डूंगरिया ( 7 साल ) , साएशा सतावत ( 7 साल ) , कियान शेख ( 7 साल 11 महीने ) , रेहान खान  ( 7 साल 09 महीने) , जैनिष गजरा ( 9 साल 05 महीने) , कियारा अंबानी ( 7 साल 02 महीने ) , सरना नादर ( 7 साल ) शामिल थे।
बबल कम्युनिकेशन ने इस कार्यक्रम में अपना सहयोग प्रदान किया

Post a comment

  1. VERY nice
    VERY hard practice
    Achieved success
    Guru also train with supar love with hard practice.
    Congratulations to all

    ReplyDelete

 
Top