0
   दिलकश , जवां , मधुर मुस्कान वाली अभिनेत्री रागिनी खन्ना टी वी पर धारावाहिक ' ससुराल गेंदा फूल ' और ' भास्कर भारती ' में अपने अभिनय से दर्शकों का दिल जीत चुकी है । बाद में उन्होंने अपना रुख फिल्मों की ओर भी किया मगर उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कमाल करने से चूक गयी । हालिया प्रदर्शित फ़िल्म ' गुड़गांव ' भी उम्मीद पर खरी नहीं उतरी ।
गोविंदा जैसे हरफनमौला कलाकार की भांजी रागिनी का परिवार एक दशक से कला के क्षेत्र में अपनी भूमिका निभाते चले आ रहे हैं ।
इनकी नानी और गोविंदा की माँ स्वर्गीय निर्मला देवी अपने ज़माने में शास्त्रीय गायन में ख्याति प्राप्त रही हैं । रागिनी की माँ कामिनी खन्ना भी गीतकार , संगीतकार , गायिका होने के साथ ज्योतिष विद्या में पारंगत हैं और आर जे बनी 92.7 बिग एफ एम रेडियो पर भी कामिनी खन्ना को सुना जा सकता है ।
 हाल ही में रागिनी खन्ना ने गायन के क्षेत्र में कदम रखते हुए एक नई पारी की शुरुआत की है । अपनी माँ की संगीत कंपनी कामिनी खन्ना म्यूजिक के लिए उन्होंने एक गीत ' मुझसे प्यार करते हो ' गाया है जो 90 के दशक की मेलोडी संगीत का एहसास दिलाती है और इस गीत को रागिनी ने अपने प्रिय मामा गोविन्दा को समर्पित की है ।
  प्रतिभाशाली अदाकारा रागिनी ने बताया कि मैंने एक्टिंग से पहले सिंगिंग में रुचि लेना शुरू कर दी थी । 5 साल की छोटी सी उम्र में मैं अपनी नानी से सीखने लगी फिर उनके देहांत के बाद पंडित प्रकाशनाथ जी से शास्त्रीय संगीत सीखी । लेकिन मेरी शुरुआत एक अभिनेत्री की रूप में पहले हो गयी । मेरी माँ का प्रोत्साहन हमेशा से मेरे साथ रहा और अब उनकी ही संगीत और कंपनी से मेरा पहला गीत रिलीज हुआ है ।
' मुझसे प्यार करते हो ' के साथ कामिनी खन्ना की आवाज़ से सजी गीत ' दरवाज़ा पे ठाढ़ी रहूँ ' भी रिलीज हुई है ।

- संतोष साहू
 ( फ़ोटो कोरिल राजेश कुमार )

Post a comment

 
Top