0

ध्वनि प्रदुषण के खिलाफ मुहीम 

मि. प.संवाददाता/ मुंबई

    मुंबई में बढते वायू प्रदुषण और ध्वनी प्रदुषण को लेकर जनजागृती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जोगेश्वरी पूर्व के हिंदुहृदयसम्राट बालासाहब ठाकरे अस्पताल में ईएनटी डिपार्टमेंट के सहयोग से छाव नामर एनजीओ तथा बोरीवली ट्राफिक पुलिस के माध्यम से हालहीं में नो होंकिंग डे का आयोजन किया गया। जिसमें कई वक्ताओं ने लोगों को संबोधित किया। 


    समारोह के बारे में बताते हुए डॉ अजय डोईफोडे ने बताया कि  कार्यक्रम के दौरान ईइनटी सर्जन प्रोफेसर समीर भार्गव ने नो हॉन्किंग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हॉन्किंग के वजह से बीमार लोगों को काफी गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि हॉन्किंग के वजह से हाइपरटेंशन, स्ट्रोक, हार्ट अटैक और मानसिक बीमारियां भी हो सकती हैं। इसके अलावा साथ ही ठीक न हिने वाला बहरापन भी आ सकता है। इसलिए रास्तों पर जब जरूरत हो तभी हॉर्न बजाए। खास तौर पर अस्पतालों तथा स्कूलों एवं प्रार्थनाघरों के समिप से गुजरों तो बिलकुल ही हॉर्न न बजाए। इस मौके पर छांव नामक एनजीओ की सदस्या मृदुला बक्शी ने भी उनके किये गए प्रयासों का विवरण दिया और इस कार्यक्रम के लिए अस्पताल को धन्यावाद दिया। 


   समारोह में अस्पताल के डॉ. बावा, मेडिकल अधीक्षक डॉ. बचाव,  डॉ. कौशल शेठ, एओआई के मुंबई अध्यक्ष, केईएम अस्पताल के ईएनटी विभाग प्रमुख प्रोफेसर डॉ. हेतात पटेल, डॉ. शशिकांत म्हसाल, डॉ. अजय डोईफोड़े आदि इस मौके पर उपस्थित थे।


Post a comment

 
Top