0

​अद्वितीय, अप्रतिम, भव्य व यादगार रहा समारोह 


मि.प. संवाददाता/ मुंबई
हर साल की तरह इस साल भी मिशन पत्रकारिता संस्था के वित्तीय वार्षिक कैलेंडर २०१८-१९ का भव्य लोकार्पण मुंबई शहर के सुप्रसिद्ध पत्रकार, फिल्म अभिनेता एवं मंत्रियों समेत कई जानी मानी हस्तियों की मौजूदगी में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में विश्व महिला दिवस के अवसर पर नारी सम्मान समारोह का भी आयोजन रखा गया था। जिसमें शहर की कुल १२ महिलाओं को सम्मान चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। मुंबई स्थित जोगेश्वरी पूर्व के शाम नगर तलाव के समीप स्थित इच्छापूर्ती गणेश मंदिर हॉल में आयोजित इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र के उच्चतंत्र शिक्षा एवं गृह निर्माण राज्यमंत्री रवींद्र वायकर ने संगठन को शुभकामनाएं देकर सकारात्मक पत्रकारिता करने के लिए पत्रकारों से अपील की। समारोह में मीडिया डिरेक्ट्री ’फैमिली ऑफ प्रेस’ तथा सुप्रसिद्ध अर्थ विशेषज्ञ अल्पा शाह द्वारा लिखित पुस्तक ’लक्ष्मी सूत्र’ का लोकार्पण भी मान्यवर हस्तियों के द्वारा हुआ। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता दोपहर का सामना के निवासी संपादक अनिल तिवारी ने की। नारी सम्मान समारोह के दौरान नारी सम्मान संगठन की प्रमुख श्रीमती सुंदरी ठाकूर ने महिलाओं सम्मान श्रीमती मनिषा वायकर के हाथों करवाया। समारोह में अर्थ विशेषज्ञ अल्पा शाह, टैरो कार्ड रीडर ज्योति झांगियानी, वरिष्ठ महिला पुलिस निरिक्षक रजनी सालुंखे, मनापा उपायुक्त नीधि चौधरी, गायत्री परिवार मुंबई प्रमुख सुश्री आशा ज्ञानी, समाजसेविका श्रीमती शादाब पटेल, श्रीमती नूरजहां सिद्दीकी, भोजपुरी फिल्म अभिनेत्री रितु सिंह, अभिनेत्री रतन राजपुत, तथा समाजसेविका ममता कदम आदि को शॉल, पुष्पगुच्छ व सम्मान चिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया गया। जबकि सुंदरी ठाकूर व मनिषा वायकर का सम्मान दैनिक मुंबई हलचल के प्रधान संपादक एवं मिशन पत्रकारिता के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष दिलशाद खान एवं उनकी पूरी टीम ने किया। 

प्रमुख अतिथी के रूप में वरिष्ठ पत्रकार नंदकिशोर नौटियाल एवं रवींद्र वायकर एवं उनकी पत्नी मनिषा वायकर खासतौर पर उपस्थित थे। इसके अलावा मिशन पत्रकारिता समाजसेवा समिती के अध्यक्ष कैलाशनाथ पाठक, समाजसेवी अक्षत सुराना, फिल्म संगीतकार दिलीप सेन, ग्लोबल एडवर्टाजिंग के संजीव गुप्ता, सिनीयर चार्टर्ड अकाऊंटंट प्रताप कांकरिया, एडवोकेट विनोद कांकरिया, वरिष्ठ पत्रकार अमरजीत मिश्र, अजय शर्मा, दोपहर का सामना के संवाददाता जितेंद्र मल्लाह  आदी विशेष अतिथी के रूप में उपस्थित थे। समारोह के उपरांत उपस्थितों के लिए भोजन व अल्पाहार की भी व्यवस्था की गई थी। 
*********

फैमिली ऑफ प्रेस के १० वे अंका का लोकार्पण 


इस कार्यक्र में दोपहर का सामना के पत्रकार मोतिलाल चौधरी द्वारा संपादित मीडिया डिरेक्ट्री ’फैमिली ऑफ प्रेस’ के १० वे अंक का भव्य लोकार्पण मान्यवर अतिथियों के द्वारा हुआ। गौरतलब है कि इस अंक का लोकार्पण रवींद्र वायकर के हाथों पहले भी चुका है। इस अवसर पर रवींद्र वायकर ने मोतीलाल चौधरी को शुभकामनाएं देते हुए उनके इस प्रयास की भरपूर सराहना की। 
*********

अल्पा शाह लिखित लक्ष्मी सूत्र की प्री लाँचिंग


समारोह में अर्थ विशेषज्ञ अल्पा शाह ने पैसों से जुडे महत्वपूर्ण सूत्र बताएं जिसे अपनाने पर हर व्यक्ति आर्थिक संपन्न बन सकता है। उनके सूत्र हर घर तक पहुंचे इसलिए उन्होंने हर फायनांस की हर समस्या के समाधान एवं आर्थिक सपन्नता के फार्मुले को लेकर ’लक्ष्मी सूत्र’ नाम पुस्तक को लिखना प्रारंभ किया है। जिसकी प्री लाँचिंग श्रीमति मनिषा वायकर, सुंदरी ठाकुर
, दिलशाद खान  नंदकिशोर नौटियाल तथा समस्त प्रमुख अतिथियों के मौजूदगी में हुआ। उनके इस कार्य को लेकर मिशन पत्रकारिता एवं नारी सम्मान संगठन ने उन्हें अवार्ड से सम्मानित किया। 
*********

मुंबई हलचल ने मचाई दिलों में खलबल


मुंबई शहर में तेजी से उभरते अखबार दैनिक मुंबई हलचल के समाचार और लेख पाठकों के दिलों को छू रहें है। समारोह में मौजूद सभी महिलाओं ने मुंबई हलचल को हाथ में लेकर कुछ इस तरह पोज दिया की मानों अखबार ने इन महिलाओं के दिलों में खलबली मचा दी हो। इन महिलाओं और अतिथियों ने अखबार के संपादक दिलशाद खान क प्रयास को भी सराहा और उनकी भरपूर प्रशंसा की। 
*********

पत्रकारों को लोगों की गलती सुधारने के लिए प्रेरित करना होना – रविंद्र वायकर



रविंद्र वायकर ने अपने भाषण में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आज की पत्रकारिता पित यानी भ्रष्ट पत्रकारिता में तबदिल हो गई है।  मीडिया हर किसी की गलतियां निकालने पर आमादा है। जबकि होना यह चाहिए कि समाज की गलतियां सुधारने का काम पत्रकारों को करना चाहिए। मगर हो रहा इससे उलटा है। उन्होंने कहा कि मिशन पत्रकारिता द्वारा मीडिया सुधार अभियान काफी प्रशंसनीय है। समाज में ऐसे संगठन एवं पत्रकारों की बेहद आवश्यकता है। इसलिए इनके हर सामाजिक कार्य को मेरा समर्थन रहेगा। 
************

पत्रकारिता समाज का आईना ही रहे – नंदकिशोर नौटियाल



वरिष्ठ पत्रकार नंदकिशोर नौटियाल ने अपने भाषण में कहा कि पहले की पत्रकारिता क्रांतिकारी हुआ करती थी। मगर आज थोडी दिशा भूल हो गई है। अत: पत्रकारों को एक समाजसेवक बनकर कार्य करना होगा। समाज को सुधारना हो तो पत्रकारिता केवल समाज का आईना ही रहे तो बेहतर है। उन्हें किसी को दोषी या अपराधी करार करने का कोई अधिकार नहीं है। 
**************

गलती पर कार्रवाई जरूरी – सुंदरी ठाकुर




समाजसेविका सुंदरी ठाकुर ने अपने भाषण में कहा कि नारी पर होनेवाले अत्याचार के विरोध में वे सदा आवाज उठाती रही है। मगर जब औरते कानून का दुरूपयोग करे तो उन पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। कानून का दुरूपयोग चाहे पुलिस कर्मियों के द्वारा भी हो तब भी वे दोषी माने जाने चाहिए। कानून के हनन के खिलाफ वे सदा आवाज उठाती रहेगी। 
************

Post a comment

 
Top