0

मि.प. संवाददाता/नई दिल्ली
यह हम सभी जानते है की जब से हमारे देश के प्रधानमंत्री पद का भार माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी ने संभाला है तब से लेकर अब तक ना जाने कितने छोटे-बडे फैसले लिए गये हैं। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने नोट बंदी का फैसला रातों रात लिया था तो नजाने कितने काले धन वाले लोगों के पैरों तले से जमींन खिसक गयी थी। और अब फिर सुनने में आया है की हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फिर एक बड़ा हाहाकारी फैसला लिया है जिसने पुरे देश में हडकंप मचा दिया है। अब आप भी यही सोच रहे होंगे की अब कौन सा नया तूफ़ान आने वाला है तो चलिए हम आपको बताते है की प्रधानमंत्री जी ने कौन सा हाहाकारी फैसला लिया है।
.
आपको जान कर हैरानी होगी कि मोदी जी का यह फैसला सुनकर बड़े बड़े नेताओं को देश छोड़ना पड़ सकता है। जब मोदी जी ने नोट बंदी की थी तो आपको याद होगा की प्रधानमंत्री मोदी जी ने लोगों को बड़े प्यार से समझाया था कि जिन-जिन लोगों ने कालाधन अपने पास दबा कर रखा है, वो आयकर विभाग को भारी जुर्माना देकर उसे सफ़ेद में बदल सकते हैं और इतना ही नहीं पीएम मोदी ने इस कम के लिए बाकायदा काफी समय भी दिया था लेकिन शायद कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री जी की इस बात को ज्यादा सिरियसली नहीं लिया और खुद को कुछ ज्यादा ही चालाक समझते हुए अपने काले धन को सफ़ेद करने में लग गये वो भी बिना कोई जुर्माना भरे हुए। अब ऐसे ही लोगों के उल्टे दिन आ गये हैं क्योंकि अब उनकी सही जगह यानी के जेल भेजने के लिए पीएम मोदी ने नोटबंदी के अगले चरण को शुरू किया है।
.
प्रधानमंत्री मोदी ने नोट बंदी के अगले चरण को शुरू करते हुए यह फैसला लिया है। अभी उन्होंने आपरेशन ब्लैक मनी शुरू कर दिया है जिसके आधार पर देश में बड़े-बड़े बिजनेस मैंन और नेताओं जिन्होंने अपने काले धन को सफ़ेद किया है उनका पर्दा फाश किया जायेगा इसके लिए कई जगह पर छापामारी की गयी है। छापेमारी में कार्यवाही के दौरान मिले दस्तावेजों से ये भी बात साफ़ हुई है कि देश के बड़े-बड़े बिज़नेसमैन और नेता भी कालेधन की धांधली के इस खेल में शामिल हो सकते हैं।

इस ऑपरेशन ब्लैक मनी में ऐसी फर्जी कंपनियों पर भी छापेमारी की जा रही है जिनपर नोटबंदी के दौरान कालेधन को सफेद करने का शक है। सूत्रों के मुताबिक ऐसी लगभग ३०० कंपनिया ईडी के निशाने पर हैं, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान १०० करोड़ से भी ज्यादा कालेधन को सफ़ेद करने का काम किया है। आपको बता दें की इडी की टीम इस दौरान कंपनियों के दस्तावेजों की भी जाँच कर रही है । इडी की टीमें इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देशभर में एक साथ १०० से भी ज्यादा स्थानों पर छापेमारी की है और कालेधन की कार्यवाही को अंजाम दिया है।

हम आपको बता दें कि नोटबंदी के दौरान बड़े पैमाने पर इन फर्जी कंपनियों ने अरबों का काला धन सफ़ेद किया था और शुरुवाती कार्यवाही के बाद इन कपनियों पर कार्यवाही की जाएगी। अब तक पूरे देश के १६ राज्यों में १०० से ज्यादा शहरों मे एकसाथ छापेमारी चल रही है जिसमे दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, चंडीगढ, पटना, रांची अहमदाबाद, उडीसा, बंगलौरजैसे कई बड़े शहरों में ईडी ताबड़तोड़ छापेमारीे कर रही है । सूत्रों से जानकारी मिल रही है कि इन छापेमारी में ईडी ने अबतक अनेकों ऐसे दस्तावेजों को पकड़ा है जिनसे कई सौ करोड के लेनदेन की अहम जानकारियां मिली हैं।

Post a comment

 
Top