0

मि.प. संवाददाता /मुंबई
हैदराबाद में भिखारियों को उठाने आई पुलिस उस वक्त शॉक्ड हो गई जब भिखारियों में से दो महिलाओं ने उनसे अंग्रेजी में बहस करना शुरू कर दिया। दरअसल तेलंगाना पुलिस ने २० अक्टूबर से भीख मांगने वाले पुरूष महिलाओं को पकड़ा शुरू किया है। ये कैंपेन पुलिस डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी के तीन दिन के विजिट के पहले कर रही है।
 तेलंगाना पुलिस ने जब महिलाओं से पूछताछ की तो एक चौंकाने वाली बात सामने आई। ५० साल की फरजोना ने बताया कि उसने बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की पढाई की है और लंदन में एकाउंटेंट की नौकरी कर चुकी हैं । उनका बेटा अमेरिका में आर्किटेक्ट है।
महिला ने बताया कि उसका घर आनंद बाग में है। कुछ समय पहले उनके पति की मौत हो गई थी। जिसके बाद से वो बहुत डिस्टर्ब चल रही थी। एक तांत्रिक के कहने पर वो दरगाह पर भीख मांगने लगी। पुलिस ने जो दूसरी महिला को पकड़ा उसका नाम राबिया बसेरा है। उनका कहना है कि उनके पास अमेरिका का ग्रीन कार्ड है। पुलिस को उसने बताया कि उसके पास बहुत ज्यादा प्रोपर्टी है। घर पर प्रोपर्टी को लेकर काफी झगड़ा चल रहा जिससे उनकी मानसिक स्थिति खराब चल रही थी। जिसके बाद रिश्तेदारों ने उन्हें सलाह दी कि वे दरगाह पर जाकर भीख मांगे जिससे उन्हें शांति मिलेंगी।
तेलंगाना पुलिस डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प के इंडिया विजिट के पहले भिखारियों के शिफ्ट करने की कार्रवाई कर रही है। पुलिस महिला और पुरुष भिखारियों को चेरलापल्ली जेल के आनंद आश्रम में शिफ्ट कर रही है। पुलिस अबतक १००० भिखारियों को शिफ्ट कर चुकी हैं जिनमें १३३ महिला भिखारी हैं।

Post a comment

 
Top