0


वैश्विक ब्राह्मण मंच की महाराष्ट्र ई की अध्यक्ष अलका पाण्डेय के संयोजन में कवि सम्मेलन व सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि का पदभार सम्भाल रामेश्वर शर्मा (वरिष्ठ साहित्यकार) ने संभाला तथा विशिष्ठ अतिथी अमरेन्द्र कुमार मिश्र (राष्ट्रीय सहारा गडहनी रिपोर्टर पथार गडहनी भोजपुर आरा बिहार), सतीश शुक्ल (वरिष्ठ व्यंग्यकार), नागेन्द्र दुबे (समारोह अध्यक्ष), राम राय (आध्यापक साहित्यकार) और समीक्षक विष्णु शर्मा रहे।

कार्यक्रम का संचालन किया डॉ अलका पाण्डेय ने स्वागत गीत गाया शोभारानी तिवारी ने सरस्वती वंदना अलका पाण्डेय ने की तत्पश्चात कार्यक्रम शुरु किया गया। 

२०२० बहुत ही कष्ट का समय था २०२० की विदाई व २०२१ का स्वागत किया गया। २०२१ में क्या चाहिये, कैसा हो इस पर रखा गया था विषय - नववर्ष - आप क्या चाहते है। सबने बहुत शानदार प्रस्तुतियाँ दी। इसी अवसर पर सभी रचनाकारो को सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया। 

प्रस्तुत है कुछ रचनाकारों की रचनाएं

एक नई आशा लेकर आया, नई उम्मीदें लेकर आया 

नया नया साल है नया नया काम करो । 

अब नही कोई दुख की बात करो 

सभी अपनों का ख्याल करो ।। 

छूना है बुलंदियों को अभी उम्मीदें जवां है ।

पल पल तिमिर घट रहा रोशनी हौले हौले आ रही ।।

मेरे मन में आस पलती 

वक़्त हो जाये मेरी ग़ुलाम ।।

मेरे मन हिम्मत बढ़ती ही जाती ।

मेरी आशा है कामयाबी को सलामी दूँ ।।

मेरे दोस्तो  का चेहरा सदा मुस्कुराये । 

उनकी मुस्कराहट मुझे भी हँसाये , जमाने की खुशीयां मिल जायें ।।

इस तरह हम करे 2021 का स्वागत ।।

फूल खिल रहे बागों में , 

पुराना कैलेंडर रोते रोते विदा हो रहा ।।

2021 मुस्करा रहा । 

- अलका पाण्डेय


नववर्ष झूमकर आया है,

खुशियाँ अनंत ले आया है।

- रंजना शर्मा 'सुमन', इंदौर


कटुता मधु में पाग कर मंगलमय नव वर्ष,

निज विस्मृति, हरि स्मरण का प्रण करो सहर्ष।

- ज्ञानेश कुमार मिश्र


हर वर्ष हर साल वर्ष बदलता है।

बीते वर्ष को भूल नया साल याद रखता है

- दिनेश शर्मा इंदौर

मतलब के संसार में, सबका अपना राग।

राग बढ़ाता मोह को, मोह लगाता आग।

मोह लगाता आग, कामना पैदा करता।

रखता सच से दूर, भावना दूषित भरता।

ले खुद को पहचान, अरे ! रे मत  गफलत में।

झूठे सब आधार, कसीदे है मतलब के।।

- हरिहर वैश्विक ब्राम्हन समाज,

भाग जाएगा कॉरोना अब तो, 

रस्सी मिल जाए,यही उम्मीद है, 

रहते थे पहले डरे डरे हम, 

आसमान में उडने है हमें

मंगल प्रभाव विश्व में हो जाए, 

- पद्माक्षी शुकाल 

सम्मान समारोह में सम्मिलित कवियों की सूची

1) ज्ञानेश कुमार मिश्रा 

2) रामेश्वर शर्मा रामूभैया कोटा

3) रेखा पांडे पुणे

4) पद्माक्षी शुक्ल पुणे, 

5) पद्मा तिवारी, दमोह, 

6) गीतकार सुरेन्द्र कुमार शर्मा जयपुर

7) शोभा रानी तिवारी इन्दौर

8)ममता तिवारी इन्दौर

9) ऐश्वर्या कापरे जोशी - पुणे

10)ओमप्रकाश पाण्डेय खारघर नवी मुम्बई 

11) डॉ गीता पांडेय 'बेबी'

जबलपुर मध्य प्रदेश

12) विष्णु शर्मा हरिहर

13) राम राय 

14) अमरेन्द्र कुमार मिश्र 

15) आरती तिवारी सनद -दिल्ली 

16) वंदना शर्मा 'बिंदु' देवास मध्य प्रदेश

17) रंजना शर्मा 'सुमन' इंदौर

18) नागेन्द्र दुबे 

19) डाॅ धाराबल्लभ पांडेय 'आलोक', अल्मोड़ा, उत्तराखंड। 

20) सतीश शुक्ल - वरिष्ठ व्यंग्यकार 

21) जनार्दन शर्मा आशु कवि, हास्य व्यंग्य

22) पदमा तिवारी दमोह 

23) शेखर रामकृष्ण तिवारी 

24)कृष्ण कुमार शर्मा नौयडा 

25) दिनेश शर्मा इंदौर

26) महक जौनपुरी प्रयागराज

Post a comment

 
Top