0



दुनियाभर में चल रहे कोरोना महामारी के चलते आध्यात्मिक होना इंसान की ज़रुरत बन चुका है। देश में ऐसे कई आध्यात्मिक ट्रस्ट हैं जो लोगो की भलाई के लिए काम कर रहे हैं। उनमें से एक है इंटरकल्चरल फाउंडेशन फॉर वैदिक लिविंग जो समाज में आध्यात्मिकता को लेकर क्रांति लाने की कोशिश कर रहा है। यह ट्रस्ट ऐसे विषय की तलाश में है जिनके बारें में लोगो ने न कहीं पढ़ा होगा और न ही कहीं सुना होगा। वैदिक लिविंग फाउंडेशन के माध्यम से कई  लोगों के आध्यात्मिकता से जुड़े प्रश्नों के जवाब तो मिल रहे हैं साथ ही आधुनिक विज्ञान और आध्यात्मिकता के विषयों पर लोगों तक जागरूकता भी फैला रहे हैं। इनमें विभिन्न पहलू जैसे स्वस्थ जीवन, आध्यात्मिक उत्थान, रोग प्रतिरोधक शक्ति को ध्यान में रखते हुए इस ट्रस्ट ने लोगों तक जानकारी पहुंचाने का बीड़ा उठाया है।  

वैदिक लिविंग फाउंडेशन के संस्थापक बकुल राजपूत और उनकी टीम कई विषयों जैसे कि रिश्तें, इंसानी सम्बन्धों, भारत के प्राचीन रहस्य, सनातन धर्म के ऊपर लोगों तक सही जानकारी पहुंचाने का काम कर रहे हैं। कोरोना महामारी के चलते लोगों के मानसिक तनाव और शारीरिक समस्याओं पर ध्यान देते हुए बकुल राजपूत मेडिटेशन और योग जैसे विषय पर अपने साथ जुड़े लोगों की मदद कर रहे हैं।  

वैदिक लिविंग फाउंडेशन मनुष्य के शारीरिक, मानसिक और अंत:मन का संघटन है जो अपनी नयी सोच, क्रांतिकारी विचारों के द्वारा नयी उम्मीदों की किरण लेकर आयेंगे।

Post a comment

 
Top