0




मुम्बई। कोरोना महामारी से व्याप्त इस संकट घड़ी में लंबे समय तक लागू हुए लॉकडाउन के बाद अब लोगों का जीवन धीरे धीरे सामान्य होने लगा है। लोग अपने अपने काम धंधे पर वापस लौटने लगे हैं। यही स्थिति बॉलीवुड में भी देखने को मिल रही है। बड़े प्रोडक्शन हाउस के बाद अब नए बैनर भी अपने प्रोजेक्ट की शूटिंग में निकल पड़े हैं।
 गोरखनाथ मूवीज बैनर के अंतर्गत दो हिंदी गाने 'सब हमपे मरे तो मैं क्या करूँ' और 'मेरे प्रीतम' की रिकॉर्डिंग अंधेरी, मुम्बई के एक म्यूजिक रिकॉर्डिंग स्टूडियो में किया गया था। जहाँ गायक राधे राधे के स्वर को संगीतकार एस. पी. सेन ने स्वरबद्ध किया। 'सब हमपे मरे तो' गीत को रीना अग्रवाल ने लिखी है तो वहीं भावुकता से भरे 'मेरे प्रीतम' गीत की रचना राधे राधे ने की है। इस अल्बम के निर्माता निर्देशक कृष्णा चौहान हैं जो बॉलीवुड में पिछले 17 वर्षों फ़िल्म मेकिंग जैसी जटिल विधा को आत्मसात कर रहे हैं। इससे पहले कृष्णा की एक शार्ट फ़िल्म को राज्य स्तर पर सराहना मिली है जो कि सामाजिक मुद्दे पर बनी थी। इसके अलावा कृष्णा चौहान ने दो फ़िल्म की भी तैयारी कर लिया है।
 हाल ही में अंधेरी के एक स्टूडियो में इस अल्बम के एक भावुक गीत 'मेरे प्रीतम' को राधे राधे, रति श्रीवास्तव और पंकज मेहता पर फिल्माया गया। इसके डीओपी आरिफ शेख, कोरियोग्राफर नकुल हैं। दूसरे गाने की वीडियो की शूटिंग जल्द ही मुम्बई के विभिन्न लोकेशनों पर शुरू की जाएगी।
बता दें कि सिंगर राधे राधे पिछले दस वर्षों से माता की चौकी, जागरण, कीर्तन, सुंदरकांड कार्यक्रम में रंग जमाते आ रहे हैं। इसके अलावा वे फिल्मी गाने भी खूब गाते हैं। यह गायक झारखंड राज्य के चतरा जिला के रहने वाले हैं और बीस साल से नालासोपारा (पालघर, महाराष्ट्र) में अपने परिवार के साथ रह रहे हैं।

Post a comment

 
Top