0

भारतीय आभूषण उद्योग को भी वॉइस से लाभ होगा, क्योंकि महामारी, लॉकडाउन और त्यौहारों पर प्रतिबंध लगने के कारण महीनों तक हुए नुकसान के बाद यह उद्योग फिर से चमकना चाहता है

सितंबर 2020: कोविड 19 महामारी के कारण पूरी दुनिया का आभूषण उद्योग बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। खासकर भारत जैसे देश में शादी जैसे कई आयोजन रद्द होने या टलने के कारण ज्यादा समस्या हुई है।
अभी भारतीय और वैश्विक उद्योग लॉकडाउन में छूट के चलते व्यवस्था की बहाली पर नजरें गड़ाये हुए है। विसेंज़ाओरो और अन्य शोज के आयोजक इंडिया एक्जिबिशन ग्रुप (आईईजी) ने वॉइस नामक एक असाधारण आयोजन की घोषणा की है। यह आयोजन शनिवार 12 तारीख से 14 तारीख तक विसेंज़ा एक्सपो सेंटर में होगा। जनवरी 2021 में विसेंज़ाओरो के साथ टेªड शो की बहाली से पहले वॉइस गोल्ड और ज्वेलरी सेक्टर को फिर से एकजुट करेगा, ताकि वे पूरी दुनिया में व्यवसायों और निर्यात गतिविधियों को रिलॉन्च कर सकें। इस आयोजन की तैयारी आईईजी ने विदेश मंत्रालय, इंटरनेशनल कोऑपरेशन और इटालियन ट्रेड एजेंसी के साथ मिलकर की है और यह खासतौर पर जिम्मेदारी से नवोन्मेष, आयोजन तथा कार्य करने पर केन्द्रित होगा। यह आयोजन आईईजी के #SAFEBUSINESS प्रोजेक्ट (https://www.iegexpo.it/it/safebusiness) के अनुसार कंपनियों और आगंतुकों के स्वास्थ्य की पूर्ण सुरक्षा की गारंटी के साथ होगा और टिकटों और भुगतान के डिजिटलाइजेशन से लेकर तापमान नियंत्रण और सैनिटाइजेशन रूट तक पचास से अधिक दिशा-निर्देश प्रदान करेगा। आईईजी ने विसेंज़ा एक्जिबिशन सेंटर की स्वच्छता को अंतर्राष्ट्रीय मानक तक पहुँचाने के लिये जीबीएसी एसटीएआरटीएम प्रोग्राम को भी चुना है। उद्योग की वैश्विक बहाली आरंभ करने के लिये तैयार अइस की प्रस्तुति ‘‘फिजिटल’’ – फिजिकल एवं वर्चुअल - रियलिटीज के साथ एक अनूठे प्रारूप में होगी
इटली अपने हस्तनिर्मित आभूषणों के लिये प्रसिद्ध है, जिन पर ‘‘मेड इन इटली’’ हालमार्क होता है, जो आभूषण हस्तशिल्प में उत्कृष्टता का पर्याय है। इस देश को डिजाइन, फैशन और स्टाइल के अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र के रूप में देखा जाता है और इटली में बने आभूषणों को पूरी दुनिया पसंद करती है। इटली आभूषणों के लिये उत्पादन प्रौद्योगिकी में भी अग्रणी है। इसलिये एक समृद्ध और विविधतापूर्ण धरोहर के इस आयोजन को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।
भारत जैसे देशों के लिये एक आयोजन के तौर पर वॉइस का ज्यादा महत्व है, जो उसके आभूषण व्यवसाय को नया जीवन देगा, वह भी सोने और चांदी के दाम बढ़ने जैसी वैश्विक समस्याओं और रिटेल में बड़ी अनिश्चितता के बीच। भारत में लोगों द्वारा खरीदारी बंद होने के कारण आभूषण उद्योग को बड़ा नुकसान पहुंचा है और शादी के तय पीक सीजन के बावजूद ज्वेलरी स्टोर्स में लोग नहीं आये। मार्च 2020 लगातार 12वां महीना था, जब निर्यात में वर्ष-दर-वर्ष कोई सकारात्मक वृद्धि नहीं हुई। वित्तीय वर्ष 2020 में रत्नों और आभूषणों का सकल निर्यात वर्ष-दर-वर्ष 10 प्रतिशत कम हुआ और 35531 मिलियन अमेरिकी डॉलर का रह गया। प्रमुख कमोडिटीज, जैसे कटे और पॉलिश्ड हीरे, खुरदुरे हीरे, सोने के मेडलियॉन्स और सिक्कों और रंगीन रत्नों के निर्यात की मांग घटती रही।
कस्टम ड्यूटी और निर्यात घटने, आदि के रूप में उद्योग पहले से चुनौतियों का सामना कर रहा था। पिछले कुछ महीनों में अचानक मूल्य बढ़ने से बिक्री कम हुई थी। इसके बाद महामारी ने बड़ा नुकसान किया, क्योंकि लॉकडाउन के दौरान सभी रिटेल स्टोर्स बंद थे। दुनिया के दूसरे सबसे बड़े सोना उपभोक्ता ने मांग घटते देखी और वृद्धि की गति पिछले एक दशक में सबसे धीमी रही।
ऐसे समय में वॉइस जैसे मंच लॉकडाउन के धीरे-धीरे हटने और बाजार खुलने के साथ भारतीय आभूषण उद्योग की बहाली में मदद करने के लिये लंबी दूरी तय करेंगे।
‘वॉइस’ का लक्ष्य होगा भारतीय और वैश्विक आभूषण उद्योग को आवाज देना और प्रचलन के पलटाव और आर्थिक पुनःसक्रियता के बिन्दु के रूप में काम करना। आयोजनों की प्रस्तुति सबसे परिष्कृत टेलीविजन प्रसारण तंत्रों के साथ अत्याधुनिक एकीकरण और डिजिटल उपकरणों के माध्यम से होगी, ताकि सभी सेशंस और सेमिनारों का लाइव प्रसारण यूट्यूब, इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म्‍स पर हो और पूरी दुनिया को दिखे।
तीन दिनों के दौरान, वॉइस एक समिट का काम करेगा, जहाँ अंतर्राष्ट्रीय आभूषण समुदाय में महत्वपूर्ण राय रखने वाले लोग उद्योग की स्थिति और आगामी चुनौतियों समेत विभिन्न विषयों पर विस्तृत चर्चा करेंगे। इनमें शामिल हैं - दामियानी ग्रुप के सीईओ, डी बीयर्स के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर, वर्ल्‍ड डायमंड काउंसिल के प्रेसिडेन्ट, वर्ल्‍ड ज्वेलरी कंफेडरेशन (सीआईबीजेओ) के प्रेसिडेन्ट, रिस्‍पॉन्सिबल ज्वेलरी काउंसिल के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर और इटली की सबसे प्रिय सोना और आभूषण कंपनियों, जैसे बुलगारी, पोमेलेटो के सीईओ। ज्वेलरी ब्राण्ड्स और डिजाइनर भी अपने नये कलेक्शन, डिजाइन के नये प्रचलन, विधियों और प्रोसेसिंग के सबसे आधुनिक नवाचारों का प्रदर्शन करेंगे। इस आयोजन में आने वाले खरीदारों का स्वागत एक भव्य और मौलिक पोषाक से सजे कॉन्टेक्स्ट द्वारा किया जाएगा। इटली जाने में कठिनाई का अनुभव कर रहे वर्चुअल आगंतुकों के लिये एक बायर वर्चुअल रूम स्थापित किया जाएगा।
मार्को कार्निएलो (ग्रुप ब्राण्ड डायरेक्टर, ज्वेलरी एंड फैशन, इटालियन एक्जिबिशन ग्रुप) ने कहा, ‘‘पूरी दुनिया में व्यवसाय धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आ रहे हैं और बहाल हो रहे हैं। कई महीनों से लाइव इवेंट्स नहीं होने के बाद वॉइस एक मजबूत मंच प्रस्तुत करेगा, जो लाइव और डिजिटल का मिक्स होगा। इसका लक्ष्य वैश्विक आभूषण उद्योग के साझीदारों को आवाज देना है, ताकि वे अपने नये कलेक्शन, डिजाइन के नये प्रचलन और प्रोसेसिंग के आधुनिक नवाचार पेश कर सकें। हम एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय आभूषण उद्योग को एक साथ लाकर उत्‍साहित हैं।
वॉइस में उत्पादों का प्रदर्शन भी किया जाएगा और साझीदारों को व्यवसाय के अवसर देने के लिये व्यापार संपर्क तुरंत प्रदान किये जाएंगे। यह समिट शिक्षा और जानकारियों का मिश्रण होगी, ताकि भविष्य के व्यापार का आकार तय हो सके और मौजूदा चुनौतियों को सुलझाया जा सके। 

Post a comment

 
Top