0


स्वतंत्रता दिन के अवसर पर बांसुरी वादक और गीतकार पारस नाथ, सीआरपीएफ के तरह पुलिस वाले जो काम कर रहे हैं और महिलाओं उनको ट्रिब्यूट देते हुए संगीत कार्यक्रम और मनोरंजन का आयोजन किया गया है।
विश्व स्तर पर प्रसिद्ध बांसुरी वादक और संगीतकार पारस नाथ, सभी कोरोना सीमावर्ती योद्धाओं को वीरता के अपने निस्वार्थ कार्य के लिए संगीतमय श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। पवित्र संगीत वाद्ययंत्र और राष्ट्रगान बजाकर देशभक्ति की भावना को पुनः स्थापित करेंगे।
पारस नाथ, बनारस घराने के बांसुरी वादक है, वैश्विक महामारी के इस कठिन समय में पुलिस अधिकारियों जो मेहनत कर रहे हैं, उसके लिए ईमानदारी से सराहना करना चाहेंगे।
बांसुरी वादक और संगीतकार पारस नाथ कहते हैं, “मेरी संगीतमय श्रद्धांजलि, विशेष रूप से जोखिम भरे माहौल में काम करने वाले महाराष्ट्र की स्थिरता और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अपना ठोस प्रयास और प्रयासों के लिए पुलिस अधिकारियों को मेरा सलाम, सराहना और आभार व्यक्त करता हूँ। उन्होंने कर्तव्यों को क्रियान्वित करने में उच्च स्तर पर बहादुरी का प्रदर्शन किया है। आप जो कुछ  कर रहे हैं उसके लिए मेरा पूरा सम्मान और समर्थन है।आपको हम सभी के तरफ से बहुत बहुत धन्यवाद।
नाथ श्रद्धांजलि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए प्रेरणादायक के रूप में कार्य करते है। इस श्रद्धांजलि मैं पारस नाथ के माध्यम से, सभीको इस महामारी से लड़ने के लिए अनुरोध करते हैं।
वह पश्चिमी सेक्टर मुख्यालय, सीआरपीएफ, सीजीओ कॉम्प्लेक्स, सीबीडी बेलापुर, नवी मुंबई में राष्ट्रीय गान का प्रदर्शन करेंगे।

Post a comment

 
Top