0


मुंबई : यू.एस.-चीन संबंधों में सुधार और अमेरिकी डॉलर में रिकवरी से औद्योगिक धातुओं को समर्थन मिलने की संभावना है। हालांकि, दुनियाभर में कोरोनोवायरस केस की संख्या में निरंतर वृद्धि कीमतों को सीमित रख सकती है। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के रिसर्च नॉन एग्री कमोडिटी एंड करेंसी एवीपी प्रथमेश माल्या ने बताया के सोमवार को स्पॉट गोल्ड की कीमतों में गिरावट आई और यह 0.36% कम हो गया। पीली धातु की कीमतें 1932.4 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुईं। हालांकि, नुकसान सीमित रहा क्योंकि अमेरिकी डॉलर के मूल्य में गिरावट और कोविड-19 के संभावित वैक्सीन से निवेशकों के बीच रिस्क लेने की भावनाएं बढ़ गई।
अमेरिकी कोरोना रिलीफ बिल में एक गतिरोध आने से सोने की कीमतों की तेजी सीमित रही, जहां टॉप डेमोक्रेट और रिपब्लिकन एक डील पर पहुंचने में नाकाम रहे। महामारी की वजह से आई मंदी से उबरने के लिए अमेरिकी फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पावेल क्या कदम उठाते हैं, इस पर निवेशकों की नजर बनी हुई है।
कच्चा तेल: डब्ल्यूटीआई क्रूड ऑयल की कीमतों में 0.7% की मामूली वृद्धि हुई और यह $42.6 प्रति बैरल पर बंद हुई। क्रूड ऑयल की कीमतों में वृद्धि की वजह कोरोनोवायरस से निपटने के लिए वैक्सीन के विकास पर निवेशकों के बीच बढ़ी उम्मीदों के बीच यू.एस. से सप्लाई की चिंताएं हैं। मैक्सिको की खाड़ी और अमेरिका में आधे से अधिक तेल उत्पादन इकाइयों के बंद होने का भी तेल की कीमतों को समर्थन मिला।
हैरिकेन मार्को और ट्रॉपिकल लॉरा के दोहरे हमले से प्रतिदिन लगभग 1.07 मिलियन बैरल तेल उत्पादन बंद हो गया है। तूफान के हमले के कारण उत्पादन की चिंताओं के बीच आज के सत्र में एमसीएक्स पर कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव के साथ अस्थिरता रहने की उम्मीद है। इसकी वजह अमेरिका-चीन के तनाव में कमी और कोरोनोवायरस के मामलों में निरंतर वृद्धि भी है।
बेस मेटल्स: पिछले हफ्ते जिंक के अलावा बाकी सभी बेस मेटल एलएमई पर पॉजिटिव रहे। एलएमई जिंक (3 महीने के लिए) में 0.43% की गिरावट आई। यह 2445.5 डॉलर पर बंद हुआ। चीन की अर्थव्यवस्था में मजबूत वृद्धि और कोरोनावायरस वैक्सीन के विकास की उम्मीदों से औद्योगिक धातुओं की कीमतें बढ़ गईं। वायरस के फिर घातक होने की चिंताओं ने दूसरी बार बोलिविया के जिंक, लेड और सिल्वर माइन, सैन क्रिस्टोबाल को बंद कर दिया गया। जुलाई-2020 में चीन से एल्युमीनियम आयात 391,297 टन रहा, जो मासिक आधार पर 11 वर्षों में सबसे अधिक था। परिणामस्वरूप इम्पोर्ट जुलाई 2019 से 570% से अधिक और एक महीने पहले से 35% बढ़ गया। इंडोनेशिया ने फिलीपींस के निकेल अयस्क सप्लाई के इम्पोर्ट पर प्रतिबंध लगाया, जिसकी वजह से फिलीपींस निकेल अयस्क का आउटपुट 28% बढ़कर 1,02,310 टन हो गया।
तांबा: सोमवार को एलएमई कॉपर में 0.4% की वृद्धि हुई और एलएमई सर्टिफाइड गोदामों में इन्वेंट्री को कम करने के कारण 6516.0 डॉलर प्रति टन पर बंद हुआ।

Post a comment

 
Top