0

दिनांक - 26. 07. 2020 को कोराना काल में काव्य सृजन महिला मंच, दिल्ली का बेहद शानदार और जानदार प्रथम ऑन लाइन कवि सम्मेलन 

वर्ष - 2019 में स्थापित काव्य सृजन महिला मंच, भारत के संस्थापक पं. शिव प्रकाश जौनपुरी के मार्गदर्शन में काव्य सृजन महिला मंच गत दो वर्षों से निरंतर साहित्यिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियां कर रहा है। उसी क्रम में वर्ष - 2020 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर काव्य सृजन महिला मंच द्वारा दिव्यांग समर्था सम्मान समारोह का आयोजन किया जाना था जो संपूर्ण विश्व में व्याप्त कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित करना पड़ा क्योंकि चलना और चलते रहना ही सृष्टि का नियम है तो उसी फेहरिस्त में इस कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण काल में भी रचनात्मकता को बचाए और बनाए रखते हुए काव्य सृजन महिला मंच दिल्ली की पश्चिमी दिल्ली, इकाई द्वारा कारगिल विजय के शौर्य व पराक्रम दिवस के अवसर पर रविवार, दिनांक 26/07/2020 को ऑनलाइन, काव्य गोष्ठी का बहुत ही शानदार व जानदार आयोजन किया गया।
काव्य सृजन महिला मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष, डॉ संगीता शर्मा अधिकारी इस ऑनलाइन कवि गोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं और उनकी गरिमामय उपस्थिति में काव्य सृजन महिला मंच, दिल्ली की पश्चिमी दिल्ली इकाई द्वारा इस प्रथम शानदार ऑनलाइन, काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। 
किसी भी कार्य की निर्विघ्न समाप्ति के लिए हम उस परमपिता परमात्मा का स्मरण करते हैं और उसी क्रम में काव्य सृजन महिला मंच द्वारा आयोजित काव्य की इस फुहार का शुभारम्भ काव्य सृजन महिला मंच, सचिव, यश जैन ने भावपूर्ण सरस्वती वन्दना से किया। जिसको सफलता की ओर ले जाते हुए काव्य सृजन महिला मंच, पश्चिमी दिल्ली की अध्यक्ष श्रीमती सुलेखा अग्रवाल ने अपनी काव्यात्मक अभिव्यक्तियों के साथ बेहतरीन संचालन से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।
सावन के इस मनभावन उत्सव और कारगिल विजय दिवस के अवसर पर अभिव्यक्ति की दोहर को जीते हुए मन के मनके तराशने के लिए एक नई उमंग व उत्साह के साथ सभी कवयित्रियों ने प्रेम, समाज, बेटियों, माँ, प्रकृति, त्योहार और राष्ट्र - प्रेम आदि पर आधारित एक से बढ़कर एक रचनाएं पढ़ी और सभी ने काव्य पाठ का भरपूर आनन्द उठाया।
काव्य सृजन महिला मंच, पश्चिमी दिल्ली के द्वारा आयोजित इस ऑनलाइन काव्य गोष्ठी कार्यक्रम में आमंत्रित चार सम्मानित कवयित्रियों यथा सुश्री डॉ पूजा सिंह गंगानिया, सुश्री सीमा दहिया, सुश्री डॉ पंकज, सुश्री नीतू पांचाल के साथ - साथ आयोजन की संचालक श्रीमती सुलेखा अग्रवाल, संयोजक यश जैन तथा इस काव्य गोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित डॉ. संगीता शर्मा अधिकारी ने भी अपनी - अपनी कलम से निकले हुए शब्दों से सभी के मन को मोह कर इस कार्यक्रम को एक नई पहचान देते हुए सभी श्रोताओ को काव्य पाठ का आनंद कराया तथा अपने शब्दों की मिठास और कलम से फैली हुई चारो ओर उजास से इस कार्यक्रम को एक उच्च स्तर पर सम्मान दिलाकर काव्य गोष्ठी के नए प्रतिमान स्थापित किए। साथ ही अपनी काव्य रस की वर्षा से सभी को मंत्रमुग्ध कर आनन्दित किया।
सभी गरिमामय सम्मानित कवयित्रियों के साथ साथ श्रीमती उषा शर्मा, पंकज तिवारी, सुश्री श्रुति आदि सभी साहित्यकारों की गौरवांवित उपस्थिति ने काव्य गोष्ठी को सफल बनाया।
काव्य फुहार की इस यात्रा में शामिल सभी आमंत्रित सम्मानित कवयित्रियों तथा आयोजन के संयोजक व संचालक को प्रोत्साहन एवं उत्साहवर्धन हेतु स्मृति चिह्न के रूप में काव्य सृजन महिला मंच, सामाजिक - साहित्यिक - सांस्कृतिक संस्था द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया जिसमे उनकी गौरवमयी भूमिका को प्रणाम करते हुए उनके  रचनात्मक सहयोग और दीप्तिमान - प्रेरक व उज्ज्वल भविष्य की कामना की गई।
काव्य सृजन महिला मंच संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष और इस काव्य गोष्ठी की मुख्य अतिथि डॉ0 संगीता शर्मा अधिकारी ने अपने वक्तव्य में सभी को प्रेरित एवं प्रोत्साहित किया और काव्य सृजन महिला मंच संस्था से जुड़ने का आग्रह करते हुए कहा कि आप सब तो इस साहित्यिक, सामाजिक और सांस्कृतिक सेवाभाव से जुड़ें ही और अन्य दूसरे लोगों को भी जुड़ने के लिए प्रेरित करके न केवल साहित्य अपितु संस्कृति का भी संवर्धन करते हुए समाज सेवा में भी एक अहम और बहुमूल्य योगदान दें। उन्होंने यह भी कहा कि आप सभी के स्नेह और सहयोग से ही काव्य सृजन महिला मंच भविष्य में भी इसी प्रकार के अनेक रचनात्मक आयोजन करता रहेगा और साथ ही साहित्य की दुनिया में अपनी एक विशिष्ट पहचान बनाते हुए संस्था को सफलता के शिखर तक पहुंचाएगा।
अंत में सभी लब्धप्रतिष्ठित - सम्मानित कवयित्रियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कार्यक्रम का बहुत ही शानदार और सफलतापूर्वक समापन किया गया।

Post a comment

 
Top