0



फिलहाल हिंदी फ़िल्मों में हरियाणा और पश्चिमी यूपी की बोली का खूब प्रयोग किया जा रहा है । दंगल , सुल्तान , जॉली एल एल एल बी , टॉयलेट एक प्रेम कथा की सफलता में क्षेत्रीय भाषा से दर्शकों ने खूब मनोरंजन किया ।
फेम फैक्ट्री के बैनर तले बन रही फ़िल्म ' बाग़पत का दूल्हा ' में पश्चिम उत्तर प्रदेश की भाषा और स्थानीय कलेवर एक साथ देखने को मिलेगा । फिल्म का मुहूर्त और पोस्टर लाँच मुंबई में किया गया इस अवसर पर फिल्म के मुख्य कलाकार जय सिंह , अमिता नांगिया , पुनीत वशिष्ठ , निर्मात्री रक्षा बारिया, निर्देशक करन कश्यप, सह निर्मात्री संध्या हंस, लेख़क सुहास सिंह, कैमरामैन साजिद शेख़ , संगीतकार विष्णु विक्रम उपस्थित थे।
  फिल्म में नवोदित अभिनेता जय सिंह , अमिता नांगिया, ललित परिमू , रज़ा मुराद , पुनीत वशिष्ट भी प्रमुख क़िरदारों में नजर आएंगे । बाग़पत का दूल्हा बने शिव शुक्ल और अंजलि की शादी तय हुई है लेकिन दूल्हा दुल्हन के घरवालों के साथ ही शिव और अंजलि भी नहीं चाहते की यह शादी हो। इस रोमांटिक कॉमेडी में बहुत सारा कन्फ्यूजन है । फ़िल्म की पहले शेड्यूल की शूटिंग अप्रैल में उत्तरप्रदेश के कई शहरो में की जायेगी जिसमें बाग़पत के साथ ही प्रयागराज की खूबसूरत लोकेशंस भी होगी।  दूसरे शेड्यूल में शिलांग ( मेघालय ) की नैसर्गिक सुंदरता के साथ में मुंबई में पूरा किया जायेगा ।
इस अवसर पर निर्देशक करन कश्यप ने कहा कि मैं शुरू से ही कॉमेडी कहानी की तलाश में था । फिल्म बाग़पत का दूल्हा का फ़्लेवर एकदम आधुनिक होगा फ़िल्म के संवाद में सामान्य बोलचाल हिंदी के अलावा बागपत वाली खड़ी बोली, हरियाणवी का पुट रहेगा।
 इस फ़िल्म से अपने अभिनय कैरियर की शुरुआत करने वाले अभिनेता जय सिंह गुजरात के सूरत शहर से हैं । वह अभिनय के साथ बॉडी बिल्डिंग का शौक रखते हैं । बाग़पत का दूल्हा में उनका चयन मजबूत बॉडी और कॉमेडी टायमिंग कारण ही किया गया।
 इस फ़िल्म की निर्मात्री रक्षा बारिया मूलरूप से गुजराती बिजनेस पर्सन हैं और गुजरात के कई शहरों में जिम चेन चलाती हैं । उन्हें सिनेमा से बहुत प्यार है साथ ही फिल्म महोत्सव एवं फ़िल्म इवेंट में जुड़ी रहती हैं । 

Post a comment

 
Top